लखनऊ के रिवर फ्रंट घोटाले में सीबीआई ने पूर्व मुख्य इंजीनियर को किया गिरफ्तार

शुक्रवार को सीबीआइ ने पूर्व चीफ इंजीनियर के साथ ही सिंचाई विभाग के क्लर्क राजकुमार यादव को भी पकड़ा है।

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में गोमती नदी के किनारे बने रिवर फ्रंट में हुये घोटाले के सिलसिले में आज रूप सिंह यादव और एक अन्य को गिरफ्तार कर लिया।

सीबीआई के यहां जारी बयान के अनुसार सिंचाई विभाग के पूर्व चीफ इंजीनियर तथा एक अन्य राजकुमार यादव की पुलिस कस्टडी रिमांड मंजूर कर ली गई है। शुक्रवार को सीबीआइ ने पूर्व चीफ इंजीनियर के साथ ही सिंचाई विभाग के क्लर्क राजकुमार यादव को भी पकड़ा है। दोनों को 24 नवंबर तक पुलिस कस्टडी रिमांड मंजूर हुई है। सीबीआइ दोनों से पूछताछ करेगी।

गिरफ्तारी के पहले सीबीआई ने पहले रूप सिंह यादव से लंबी पूछताछ की गई थी। रूप सिंह यादव के साथ वरिष्ठ सहायक राजकुमार को भी पूछताछ के बाद गिरफ्तार किया गया ।इनके खिलाफ दिसंबर 2017 में सीबीआइ ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी।

रूप सिंह यादव को गिरफ्तारी के बाद सीबीआई ने कोर्ट में पेश किया । अब इस घोटाले के अन्य आरोपियों की भी गिरफ्तारी हो सकती है । इस मामले में जांच एजेंसी ने आठ इंजीनियर के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई थी, जिनमें चार अवकाश प्राप्त कर चुके हैं । यह कार्यवाही गृह विभाग के प्रमुख सचिव के लिखित आदेश पर की गई है । योगी आदित्यनाथ की सरकार ने तीन साल पहले घोटाले की जांच सीबीआई से कराने की सिफारिश की थी ।

यह भी पढ़ें- रूस में पिछले 24 घंटों के दौरान करोना के 24,318 नए मामलों की पुष्टि

Related Articles

Back to top button