Vyapam स्कैम में सीबीआई कोर्ट ने सुनाई दोषियों को सात साल जेल की सजा

नीमच : मध्य प्रदेश Vyapam भर्ती परीक्षा 2012  के सिलसिले में सीबीआई की एक अदालत ने मंगलवार को आठ दोषियों को सात साल की जेल की सजा सुनाई है। इस कड़ी में जानकारों के मुताबिक साथ ही कोर्ट द्वारा इन दोषियों पर दस हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया गया है।

587 में से सिर्फ आठ को माना गया Vyapam का मुजरिम

इस कड़ी में आपकी जानकारी के लिए बता दें की डिस्ट्रिक्ट कोर्ट में जांच एजेंसी ने दस लोगों के खिलाफ चार्जशीट पेश की थी। जहां सुनवाई करते हुए कोर्ट ने आरोपी राजेश धाकड़, कवींद्र, विशाल, कमलेश, ज्योतिष, नवीन समेत आठ आरोपियों को दोषी करार करा और आरोपी दो लोगों को बरी कर दिया। इस कड़ी में आप्पकी जानकारी के लिए बता दें की सीबीआई ने हाल ही में 2012 में हुई इस धांधली के एक अन्य मामले में तिहत्तर आरोपियों के खिलाफ चार्ज शीट दाखिल की था। इस मामले में यह आरोप लगाया गया था कि इन लोगों ने असली उम्मीदवारों की जगह दूसरे छात्रों को बिठाकर एमपीपीएमटी-2012 की परीक्षा में धोखाधड़ी की थी।

इस कड़ी में आरोपिओं ने एमपीपीएमटी-2012 में इन उम्मीदवारों को पास करने के लिए डिजिटल डेटा और ओएमआर शीट में हेरफेर भी की थी। इस कड़ी में सीबीआई ने इस सिलसिले में 31 जुलाई 2015 को 587 आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया था। जिसमें से सिर्फ आठ लोगों को अदालत ने मुजरिम माना और सजा सुनाई।

यह भी पढ़ें : देश का नमक खाकर पिता ने की गद्दारी, बेटे से करवाया गंदा काम, वीडियो वायरल

Related Articles