IPL
IPL

इंस्पेक्टर अनिल कुमार हत्या मामले की होगी CBI जांच

cbi-lलखनऊ। प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने प्रतापगढ़ में इंस्पेक्टर अनिल कुमार की हत्या के मामले की सीबीआई जांच कराने का फैसला किया है। उत्तर प्रदेश सरकार ने इस मामले की सिफारिश केंद्र सरकार से करने के साथ ही शहीद इंस्पेक्टर की पत्नी को ओएसडी के पद पर नियुक्त करने का फैसला किया है। निलंबित चल रहे इंस्पेक्टर अनिल कुमार को 19 नवंबर को गोली मार दी गई थी। जिसमें उनकी मौत हो गई थी।

ये भी पढ़ें : अनिल यादव के खिलाफ CBI जांच के लिए खड़ा हुआ आईएएस खेमा

 

इस संबंध की ओर से सीबीआई जांच के लिए केंद्र सरकार को पत्र भेजा जा रहा है। गृह विभाग के अधिकारी सीबीआई जांच के लिए पत्र लिखने की तैयारी में जुट गए हैं। मूलत: फैजाबाद के इंस्पेक्टर अनिल कुमार प्रतापगढ़ में तैनात थे। मंत्री अवधेश प्रसाद व पूर्व मंत्री आनंद सेन के नेतृत्व में प्रतिनिधिमंडल ने आज मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से उनके सरकारी आवास पर मुलाकात की।

इसमें दिवंगत अनिल कुमार के भाई डॉ. राजाराम, विनोद कुमार व भतीजा धीरेंद्र के अलावा पत्नी आरती व उसके पिता सतीश चंद्र शामिल थे। परिवार वालों ने हत्याकांड की निष्पक्ष जांच के लिए सीबीआई से जांच कराने की मांग की। इस पर सीएम ने उनकी यह मांग मान ली।पत्नी आरती को सरकारी नौकरी व पूरे परिवार को सुरक्षा प्रदान करने की मांग भी मंजूर कर ली। प्रतापगढ़ में इंस्पेक्टर अनिल कुमार की रहस्यमय हालात में हत्या कर दी गई थी।

सीएम मृतक आश्रितों को 20 लाख रुपए की सरकारी सहायता देने का ऐलान पहले ही कर चुके हैं। परिवार वालों ने दो लोगों को सरकारी नौकरी की मांग की है। अनिल कुमार की हत्या में वहां तैनात एक इंस्पेक्टर बलिकरण मिश्रा से भी एसटीएफ ने पूछताछ की थी। आज परिवारजनों ने मुख्यमंत्री से शिकायत में वहां के एसपी क मिलीभगत से हत्या की साजिश रचने का आरोप लगाया है। इसी के साथ एसपी और इंस्पेक्टर पर कद्दावर नेता के इशारे पर काम करने के आरोप हैं। इन्हीं कारणों के चलते परिवारीजनों ने हत्या की सीबीआई जांच की मांग की है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button