मीसा के बाद अब लालू और तेजस्वी की बारी, सीबीआई ने कर ली घेरने की तैयारी

0

नई दिल्ली| राष्ट्रीय जनता दल के मुखिया लालू प्रसाद यादव का कुनबा इन दिनों जांच एजेंसियों के निशाने पर बना हुआ है। अभी बीते दिनों जहां प्रवर्तन निदेशालय ने लालू की बेटी मीसा भारती और दामाद का दिल्ली स्थित एक फ़ार्म हाउस सील कर दिया था। वहीं अब सीबीआई ने भ्रष्टाचार के एक अन्य मामले में लालू और उनके बेटे तेजस्वी को आड़े हाथों लिया है। सीबीआई ने इन दोनों को समन थमाकर पूछताछ के लिए सीबीआई मुख्यालय में पेश होने का आदेश दिया गया है।

सीबीआई ने लालू और उनके बेटे को अलग अलग तारीख पर मुख्यालय आने का आदेश दिया है। सीबीआई ने लालू को 11 सितंबर जबकि तेजस्वी को 12 सितंबर को बुलाया है।

सीबीआई ने रेलवे के दो निजी होटलों को निजी कंपनी को लीज पर देने में कथित तौर पर बरती अनियमितताओं के संबंध में लालू यादव, उनकी पत्नी राबड़ी देवी और बेटे तेजस्वी यादव के खिलाफ भ्रष्टाचार का मामला दर्ज किया था। यह कथित धोखाधड़ी 2004 से 2009 के दौरान की गई, जब लालू यादव रेल मंत्री थे।

यह भी पढ़ें: मुंबई ब्लास्ट मामले में 24 साल बाद मिला न्याय, अबू सलेम सहित पांच को सुनाई गई सजा

सीबीआई के मुताबिक, रेल मंत्री पद पर रहते हुए लालू ने इंडियन रेलवे केटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन (आईआरसीटीसी) के जरिए सुजाता होटल्स को अवैध तरीके से लाभ पहुंचाया था।

यह भी पढ़ें: Breking News: एक और बड़ा रेल हादसा, ट्रेन के सात डिब्बे पटरी से उतरे

सीबीआई का कहना है कि निजी कंपनी को अवैध तरीके से लाभ पहुंचाया गया। रांची और पुरी में होटलों के विकास, रखरखाव और संचालन के लिए बोली प्रक्रिया में कथित धोखाधड़ी की गई, जिसके एवज में लालू को पटना में तीन एकड़ का प्लॉट रिश्वत के तौर पर दिया गया। मौजूदा समय में इस जमीन पर मॉल का निर्माण हो चुका है।

सीबीआई ने पांच जुलाई को भारतीय दंड संहिता की धारा 420, 120बी और भ्रष्टाचार निवारक अधिनियम की धारा 13 और 131 बी के तहत मामला दर्ज किया था।

loading...
शेयर करें