संजीत अपहरण व हत्याकांड की सपा सरकार में होगी सीबीआई जांच: अखिलेश

गौरतलब है कि कानपुर के थाना बर्रा के अंतर्गत रहने वाले चमन लाल यादव का बेटा संजीत यादव पैथालॉजी कर्मी था और उसका 22 जून को अपहरण हो गया था।

कानपुर: समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बुधवार को कहा कि उनकी सरकार आने पर कानपुर के बहुचर्चित संजीत हत्याकांड की जांच सीबीआई से करायी जायेगी।

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश ने कि संजीत के घर वालों से मुलाकात

कानपुर के संक्षिप्त दौरे में पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री संजीत के घर जाकर परिजनों से मुलाकात की और न्याय दिलाने का भरोसा दिलाया। उन्होने कहा कि प्रदेश में सपा सरकार आते ही मामले की सीबीआई जांच करायी जाएगी और जो भी दोषी होगा उस पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

गौरतलब है कि कानपुर के थाना बर्रा के अंतर्गत रहने वाले चमन लाल यादव का बेटा संजीत यादव पैथालॉजी कर्मी था और उसका 22 जून को अपहरण हो गया था। परिजन लगातार पुलिस से गुहार लगाते रहे पर पुलिस बराबर लापरवाही करती रही। पुलिस ने 23 जुलाई को घटना का खुलासा कर पांच हत्यारोपियों को जेल भेज दिया। मामला मीडिया में जब तूल पकड़ा और पुलिस की लापरवाही उजागर हुई तो शासन ने एसपी दक्षिण, सीओ सहित कई पुलिस कर्मियों को निलंबित कर दिया। इसके बाद भी परिजन पुलिस के खुलासे पर बराबर सवाल उठाते रहे और शव की मांग करते रहे।

परिजानों ने की थी सीबीआई जांच की मांग

परिजनों ने सीबीआई जांच की भी मांग की पर कोई सुनवाई नहीं हो सकी थी लेकिन सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव बराबर परिजनों से संपर्क में रहे और न्याय दिलाने का भरोसा दिलाते रहे। पूर्व मुख्यमंत्री ने परिजनों को आर्थिक मदद भी की थी और पीड़ित परिवार के बराबर संपर्क में थे।

संजीत की बहन रुचि ने बताया कि पूर्व मुख्यमंत्री ने आश्वासन दिया है कि प्रदेश में सपा की सरकार आते ही कांड की जांच सीबीआई से करायी जाएगी। मां कुसुमा देवी ने पूर्व मुख्यमंत्री को बताया कि घटना में पुलिस ने जमकर लापरवाही बरती है। इस पर उन्होंने कहा कि किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा और कार्यकर्ताओं द्वारा घटना से संबंधित पूरी रिपोर्ट मिल चुकी है.हालांकि पूर्व मुख्यमंत्री मीडिया से मुखातिब नहीं हुए।

यह भी पढ़े: कवि पत्रकार मंगलेश डबराल कोरोना से हारे जंग, आज होगा अंतिम संस्कार

Related Articles