लखनऊ Gomti Riverfront Project के मामले में CBI ने दर्ज की नई FIR, इन जगहों पर छापेमारी

लखनऊ में स्थित ‘गोमती रिवरफ्रंट प्रोजेक्ट’ के सिलसिले में सीबीआई ने गाजियाबाद, लखनऊ, आगरा में कई छापे मारे हैं

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ (Lucknow) में स्थित ‘गोमती रिवरफ्रंट प्रोजेक्ट’ (Gomti Riverfront Project) के सिलसिले में सीबीआई ने गाजियाबाद, लखनऊ, आगरा में कई छापे मारे हैं।

सीबीआई ने गोमती रिवरफ्रंट परियोजना के संबंध में लगभग 1,400 करोड़ रुपये के संबंध में यूपी के गाजियाबाद, लखनऊ, आगरा में कई छापे मारे। इससे पहले सीबीआई ने इस संबंध में लोक सेवकों और अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ मामला दर्ज किया था।

जानिए पूरा मामला

दरअसल अखिलेश यादव के कार्यकाल के दौरान गोमती नदी परियोजना में कथित अनियमितताओं की जांच के लिए CBI ने नया मामला भी दर्ज किया है। यूपी में 40, राजस्थान और पश्चिम बंगाल में एक-एक सहित 42 स्थानों पर CBI की अलग-अलग टीमें तलाशी ले रही है। रिवर फ्रंट घोटाले के मामले में यह CBI की दूसरी FIR है। जानकारी के मुताबिक इस केस में कुल 189 आरोपी हैं। करीब 1500 करोड़ रूपए की इस घोटाले की जांच CBI कर रही है। ED ने भी मनी लांड्रिंग का मामला दर्ज कर जांच शुरू की थी।

 

अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) की सरकार के कार्यकाल में लखनऊ गोमती नदी के तट पर बने ‘रिवरफ्रंट’ को समाजवादी पार्टी का ड्रीम प्रोजेक्ट बताया गया था। अखिलेश यादव ने 16 नवंबर 2016 को इस प्रोजेक्ट का उद्घाटन किया था। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने साल 2017 में रिवर फ्रंट की जांच के आदेश देते हुए न्यायिक आयोग गठित किया था। जिसके बाद से ही यह मामला CBI को सौंपा गया था।

‘गोमती रिवरफ्रंट प्रोजेक्ट’ को लखनऊ का लंदन कहा जाता है। शाम होते ही इसकी सौंदर्यता में चार-चांद लग जाती है। रंग-बिंरगी रोशनियों से यह जगमगाता हुआ बहुत की खूबसूरत लगता है।

यह भी पढ़ेफ़िल्म ‘Toofaan’ के एंथम से मेकर्स ने सभी फाइटर्स को दिया Tribute, देखें वीडियो!

(Puridunia हिन्दीअंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

Related Articles