CBSE 10वीं के नतीजे 20 जून को आएंगे, रिजल्ट के लिए बनेगी 8 टीचर्स की कमेटी, जानें कैसे जोड़े जाएंगे 100 अंक

CBSE ने 10वीं की बोर्ड परीक्षाओं का रिजल्ट 20 जून को घोषित करने का फैसला किया है। रिजल्ट की तारीखों का ऐलान CBSE ने शनिवार रात किया। देशभर में कोरोना के भयावह हालातों को देखते हुए CBSE ने 14 अप्रैल को इस साल होने वाली 10वीं की परीक्षाएं रद्द कर दी थीं।

नई दिल्ली : CBSE ने 10वीं की बोर्ड परीक्षाओं का रिजल्ट 20 जून को घोषित करने का फैसला किया है। रिजल्ट की तारीखों का ऐलान CBSE ने शनिवार रात किया। देशभर में कोरोना के भयावह हालातों को देखते हुए CBSE ने 14 अप्रैल को इस साल होने वाली 10वीं की परीक्षाएं रद्द कर दी थीं। लेकिन अब बोर्ड ने छात्रों के लिए नई अंक निर्धारण नीति घोषित की है। जिसके आधार पर रिजल्ट जारी किया जाएगा।

CBSE द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक नतीजे तैयार करने के लिए हर स्कूल को एक 8 सदस्यीय रिजल्ट कमेटी बनानी होगी। इस कमेटी में स्कूल के Principle के अलावा Math, Social Science, Science और दो Language टीचर होने चाहिए। कमेटी में 2 टीचर पड़ोस के स्कूल से भी रखने होंगे।

3 साल में सबसे बेहतर सेशन होगा रेफरेंस इयर

CBSE के मुताबिक, रिजल्ट के लिए पिछले 3 साल में स्कूल के सबसे बेहतर नतीजे वाले साल को रेफरेंस इयर माना जाएगा। Subject wise marks निर्धारित करने का भी यही तरीका होगा। रेफरेंस इयर में 10वीं की बोर्ड परीक्षा में शामिल सभी छात्रों के average marks के बराबर ही 2020-21 का नतीजा तैयार किया जाएगा। हालांकि छात्रों के subject wise marks average marks से 2 marks कम या ज्यादा हो सकते हैं।

Committee में 10वीं को पढ़ाने वाले शिक्षक ही रहेंगे

Result committee में वही शिक्षक शामिल होंगे जो 10वीं कक्षा को पढ़ाते हों, एक ही मैनेजमेंट के स्कूलों के शिक्षकों को बाहरी शिक्षक के तौर पर नहीं रखा जा सकेगा। ऐसे स्कूल आपस में शिक्षकों की अदला-बदली नहीं कर सकेंगे। यह भी ध्यान रखना होगा कि शिक्षक किसी छात्र के parents न हों। Result committee नतीजे तैयार करने के लिए तय format में Rational Document ​तैयार करेगी।

यह भी पढ़ें : 

स्कूलों को भेजा गया Time Table

स्कूलों से मिले अंकों के आधार पर CBSE बोर्ड 20 जून को नतीजे जारी करेगा। बोर्ड ने रिजल्ट तैयार करने की प्रक्रिया के अलग-अलग चरणों को पूरा करने का एक टाइम टेबल भी स्कूलों को भेजा है।

  • 5 मई – स्कूलों को रिजल्ट कमेटी का गठन
  • 10 मई – रेशनल डॉक्यूमेंट तैयार करना
  • 15 मई – यदि स्कूलों कोई असेसमेंट करना चाहे
  • 25 मई – रिजल्ट का फाइनलाइजेशन
  • 5 जून – रिजल्ट सबमिशन
  • 11 जून – इंटरनल असेसमेंट के अंक जमा
  • 20 जून – बोर्ड जारी करेगा 10वीं के नतीजे

इस फॉर्मूले से जोड़े जाएंगे 100 अंक

20 अंक – इंटरनल असेसमेंट
10 अंक – यूनिट टेस्ट/पीरियोडिक टेस्ट
30 अंक – मिडटर्म/ हाफ ईयरली टेस्ट
40 अंक – प्री-बोर्ड एक्जामिनेशन

Related Articles