परिंदा भी नहीं मार पाएगा पर, कुछ ऐसे करेगा CBSE बोर्ड एक्जामिनेशन पेपर की सुरक्षा

0

देहरादून। लाख कोशिशों के बावजूद पेपर लीक की समस्या से जूझ रहे CBSE बोर्ड ने एक नया तरीका खोज निकाला है। इसके तहत अब एक्जामिनेशन पेपर को फुल प्रूव तकनीक से सुरक्षित रखा जाएगा। एक्जाम शुरू होने से ठीक 30 मिनट पहले ही पेपर सामने आएगा। यानी लीक के चांसेज को ना के बराबर कर दिया गया है।

बता दें बोर्ड ने पेपर की सुरक्षा के लिए पायलट प्रोजेक्ट के तहत पेपर मंगाने का निश्चय किया है। इसे जल्द ही होने वाले कंपार्टमेंट एग्जाम में प्रयोग किया जाएगा।

गर्मी ने फिर बिगाड़ी हॉट सनी की तबियत, 13 घंटे तक…

पेपर लीक की समस्या

इसके बाद परीक्षा शुरू होने तक पूरी तैयारी के साथ पेपर छात्रों तक पहुंचा दिया जाएगा। सीबीएसई के आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक, योजना शुरू करने की तैयारी की जा रही है। दिशा-निर्देश जारी होने के बाद ही इसकी पूरी जानकारी दी जा सकेगी।

खबरों के मुताबिक़ सीबीएसई की ओर से परीक्षा से ठीक 30 मिनट पहले पेपर और यूनिक पासवर्ड भेजा जाएगा।

नाबालिग के साथ जंगल में हुई ऐसी हैवानियत दो दिन तक…

पेपर लीक रोकने के लिए बोर्ड 16 जुलाई से होने जा रहे कंपार्टमेंट एग्जाम में यह प्रयोग करने जा रहा है। इसी माध्यम से 10वीं की बोर्ड परीक्षाओं में भी पायलट प्रोजेक्ट के तौर पेपर मंगाए जाएंगे।

इस साल बोर्ड परीक्षाओं में पेपर लीक से सीबीएसई की खूब फजीहत हुई थी। तभी तय किया गया कि छात्रों तक पेपर पहुंचाने की प्रक्रिया फुल प्रूफ होनी चाहिए। लिहाजा बोर्ड ने इसकी तैयारी शुरू कर दी।

अब 16 से 25 जुलाई के बीच होने वाली 10वीं की कंपार्टमेंट परीक्षा में यह प्रयोग दिखेगा। इसके लिए देशभर के कुछ परीक्षा केंद्रों का चयन बतौर पायलट प्रोजेक्ट किया गया है। इन केंद्रों पर पेपर ई-मेल के माध्यम से परीक्षा से ठीक 30 मिनट पहले भेजा जाएगा।

यह पेपर लॉक होगा और खोलने के लिए यूनिक पासवर्ड अलग से भेजा जाएगा। केवल परीक्षा केंद्र समन्वयक ही इस पेपर को खोलेंगे और इसका एक प्रिंट निकालेंगे। इस प्रिंट की फटाफट फोटोकॉपी की जाएगी।

loading...
शेयर करें