CBSE ने स्कूलों को चेताया- बोर्ड के परीक्षार्थियों का प्रवेश पत्र नहीं रोक सकते

0

नई दिल्ली। सीबीएसई ने स्कूलों को चेताया है कि स्कूल बोर्ड परीक्षा देने की योग्यता रखने वाले किसी भी परीक्षार्थी का प्रवेश पत्र नहीं रोका जा सकता है। सीबीएसई ने संबंधित स्कूलों को परामर्श जारी करते हुए कहा है कि उसके ध्यान में कुछ ऐसी घटनाएं आई हैं। जिसमें कुछ स्कूलों ने प्री बोर्ड टेस्ट में विद्यार्थियों के प्रदर्शन का हवाला देते हुए कई बोर्ड परीक्षार्थियों का प्रवेश पत्र रोका है। इसके अलावा कुछ स्कूलों की ओर से प्रवेश पत्र जारी करने के ऐवज में फीस भी वसूली जा रही है।

बोर्ड द्वारा जारी किए गए परामर्श में कहा गया है कि स्कूलों की ओर से परीक्षार्थियों का प्रवेश पत्र रोकने की घटना को बोर्ड गंभीर मानता है। बोर्ड के मुताबिक यह सीबीएसई के नियमों की अनदेखी है।

सीबीएसई के परीक्षा नियंत्रक के.के चौधरी के मुताबिक बोर्ड की ओर से दसवीं और 12वीं के परीक्षार्थियों का प्रवेश पत्र तभी जारी किया जाता है, जब स्कूल की ओर से विद्यार्थी को योग्य माना जाता है। उसके बाद उनकी सूची तैयार करके स्कूल उसे बोर्ड को भेजता है। इसके बाद किसी भी तरह से विद्यार्थियों का प्रवेश पत्र रोकना गलत है। बोर्ड के मुताबिक स्कूल किसी भी योग्य परीक्षार्थी को न तो प्रैक्टिकल और न ही थ्योरी परीक्षा में बैठने से रोक सकता है।

loading...
शेयर करें