CBSE ने 16 लाख छात्रों को दी बड़ी राहत, दोबारा नहीं होगी 10वीं गणित की परीक्षा

0

नई दिल्ली। सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (सीबीएसई) ने मंगलवार को एक बड़ा फैसला लेते हुए छात्रों को बड़ी राहत दी है। सीबीएसई ने ये साफ़ कर दिया है कि हाईस्कूल की परीक्षा फिर से आयोजित नहीं की जाएगी। पेपर लीक मामले की जांच-पड़ताल के बाद ये फैसला लिया गया।

CBSE

बोर्ड के इस फैसले के बाद से देशभर के 16 लाख छात्रों को बड़ी राहत मिलेगी। जिन्होंने 28 मार्च को परीक्षा दी थी। सीबीएसई के मुताबिक यह फैसला आंसरशीट के मूल्यांकन और विश्लेषण करने के बाद लिया गया है। जिसमें लीक का कोई प्रभाव नहीं पाया गया है।

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय के सचिव अनिल स्वरूप ने कहा, सीबीएसई 10वीं क्लास के मैथ्स के कथित पेपर लीक के प्रभाव का मूल्यांकन करने और छात्रों के हितों को ध्यान में रखते हुए सीबीएसई ने फैसला किया है कि दिल्ली-एनसीआर और हरियाणा समेत देश भर में रि-एग्जाम नहीं कराए जाएगे।

बता दे कि इससे पहले बोर्ड ने 12वीं अर्थशास्त्र की परीक्षा 25 अप्रैल को आयोजित करने की घोषणा की थी और साथ ही 10वीं की परीक्षा को लेकर कहा था कि पेपर लीक की जांच अभी जारी है अगर जरुरत पड़ी तो सिर्फ दिल्ली और हरयाणा में 10वीं की परीक्षा फिर से आयोजित होगी।

loading...
शेयर करें