केंद्र सरकार ने गेहूं समेत अखरोट और बादाम पर आयात शुल्क बढ़ाया

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने गेहूं, बादाम ओर अखरोट पर आयात शुल्क बढ़ा दिया है। केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर एवं सीमा शुल्क बोर्ड की ओर से बुधवार को जारी अधिसूचना के जरिए गेहूं पर आयात शुल्क 20 फीसदी से बढ़ाकर 30 फीसदी कर दिया गया है। माना जा रहा है देश में इस बार गेहूं का रिकार्ड उत्पादन होने के कारण विदेश से गेहूं का आयात रोकने के मकसद से सरकार ने आयात शुल्क में बढ़ोतरी की है।

एक अलग अधिसूचना के जरिए बोर्ड ने अखरोट पर आयात शुल्क 30 फीसदी से बढ़ाकर 100 फीसदी कर दिया है।

इसके अलावा बादाम पर आयात शुल्क 65 रुपये प्रति किलोग्राम से बढ़ाकर 100 रुपये प्रति किलोग्राम कर दिया गया है।

देश के सबसे बड़े गेहूं उत्पादक राज्य उत्तर प्रदेश की शाहजहांपुर अनाज मंडी के जींस कारोबारी अशोक अग्रवाल ने बताया कि गेहूं पर आयात शुल्क बढ़ने की खबर के बाद भाव में 30-35 रुपये की तेजी आई है। मिल क्वालिटी का गेहूं (सामान्य क्वालिटी) जहां दो दिन पहले 1570 रुपये प्रति क्विंटल में पहले बिक रहा था, वह ग़ुरुवार को 1605 रुपये प्रति क्विंटल हो गया। वहीं बेहतर क्वालिटी का गेहूं 1640 रुपये प्रति क्विंटल पर बिक रहा था।

दिल्ली के लांरेंस रोड स्थित अनाज मंडी में भी गेहूं का भाव गुरुवार को 1760 रुपये से बढ़कर 1775 रुये प्रति क्विंटल हो गया।

केंद्रीय कृषि मंत्रालय की ओर से पिछले दिनों जारी फसल वर्ष 2017-18 (जुलाई-जून) के तीसरे अग्रिम उत्पादन अनुमान के अनुसार देश में इस साल गेहूं का उत्पादन रिकॉर्ड 986.1 लाख टन हो सकता है।

भारतीय खाद्य निगम (एफसीआई) की ओर से गुरुवार को ट्विटर हैंडल पर जारी गेहूं की सरकारी खरीद के आंकड़ों के अनुसार, केंद्र व राज्य सरकार की एजेंसियों ने देश के प्रमुख गेहूं उत्पादक प्रदेशों में अब तक 337.39 लाख टन गेहूं खरीद लिया है।

व्यापारी सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, पिछले वित्त वर्ष में गेहूं का आयात तकरीबन 17 लाख टन हुआ था, जिसमें करीब दो लाख टन अभी तक बंदरगाहों पर पड़ा हुआ है।

Related Articles