जम्मू-कश्मीर के लोगों की भावनाओं के साथ खेल रही है केंद्र सरकार: सैफुद्दीन सोज

प्रोफेसर सोज ने आरोप लगाया, "केन्द्र सरकार को पूर्व नियोजित योजना से कोई फायदा होने वाला नहीं है. केन्द्र सरकार प्रदेश के लोगों के लिए कुछ भी करने में विफल रही है.

श्रीनगर: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सैफुद्दीन सोज ने मंगलवार को आरोप लगाया कि केंद्र सरकार जम्मू-कश्मीर में अपने पूर्व नियोजित एजेंडे को लागू करना चाहती है और भूमि कानून में बदलाव से लोगों की भावनाओं से खेल रही है जिससे लोगों में असंतोष व्याप्त है.

प्रोफेसर सोज ने आरोप लगाया, “केन्द्र सरकार को पूर्व नियोजित योजना से कोई फायदा होने वाला नहीं है. केन्द्र सरकार प्रदेश के लोगों के लिए कुछ भी करने में विफल रही है. उन्होंने कहा कि महाराजा हरि सिंह के समय के हमारे भूमि कानूनों को बदला जा रहा है.”
उन्होंने कहा कि प्रदेश की सर्वोपरि शर्त यह थी कि कृषि और गैर-कृषि दोनों तरह की भूमि को जम्मू-कश्मीर में रहने वाले लोग ही खरीद सकते हैं.

प्रोफेसर सोज़ ने कहा कि पूर्व की सरकारों ने सुनिश्चित किया कि भूमि के स्वामित्व का कोई भी हस्तांतरण केवल जम्मू-कश्मीर निवासियों के बीच हो. अब केंद्र सरकार ने राज्य में जमीन खरीदने के लिए बाहरी लोगों को अधिकार देकर लोगों के मन में बेचैनी पैदा कर दी है. जिससे राज्य के लोगों में गुस्सा है. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार किस वजह से भूमि कानूनों में संशोधन करने में दिलचस्पी ले रही है.

इस दौरान जम्मू में कुछ लोगों ने इस मामले में आंदोलन करने की धमकी दी है. प्रस्तावित भूमि संशोधन कानून के खिलाफ उनके आंदोलन को उचित ठहराया जा सकता है.

यह भी पढ़े: बिहार: आखिरी चरण के चुनाव के लिए सीएम योगी की आज होंगी सबसे ज्यादा रैलियां

Related Articles