IPL
IPL

किसानों से खुले दिल से बात करे केंद्र सरकार: डॉ. नरेश कुमार ( Dr. Naresh Kumar )

नई दिल्ली: अखिल भारतीय कांग्रेस समिति (All India Congress Committee) के सदस्य और वरिष्ठ किसान नेता डॉ. नरेश कुमार (Dr. Naresh Kumar) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली सरकार से आह्वान किया है कि उसे किसान प्रतिनिधियों से बगैर किसी शर्त के दिल खोलकर बात करनी चाहिए और तीनों कृषि कानूनों को तुरंत प्रभाव से रद्द करना चाहिए।

डॉ. कुमार (Dr. Kumar) ने बुधवार को कहा कि किसानों और सरकार की अब तक कई दौर की हुई बातचीत इसलिए बेनतीजा रही है क्योंकि सरकार का रवैया हठधर्मी वाला है। उन्होंने कहा कि यह बेहद दुःखद है कि उधर देश की सीमाओं पर किसान का बेटा जान दे रहा है और इधर दिल्ली की सीमा पर किसान खुद जान दे रहा है। उन्होंने कहा कि जय-जवान, जय-किसान का नारा बुलंद करने वाले इस देश में किसानों की यह दुर्दशा बहुत ही चिंताजनक है।

‘किसानों की मांग पर सरकार करे विचार’

कांग्रेस नेता ने कहा कि यदि किसानों की यह मांग है कि तीनों कृषि कानूनों को वापस लेना चाहिए, तो सरकार को उनकी इस मांग पर विचार करना चाहिए। उन्होंने कहा कि यह जरूरी है कि किसानों के लिए कानून बनाने से पहले सरकार को किसानों से बातचीत करनी चाहिए, सभी राजनीतिक दलों से रायशुमारी करनी चाहिए उसके बाद ही किसी निर्णय पर पहुंचना चाहिए।

डॉ. कुमार (Dr. Kumar) ने कहा कि मोदी सरकार यदि ऐसा सोचती है कि वह किसानों को झुका देगी तो उसे अपनी गलतफहमी दूर कर लेनी चाहिए। किसान न झुकने वाला है और न हटने वाला है। दूसरी बात यह है कि देश का अन्नदाता जब भी सड़क पर उतरा है, सरकारों को झुकना पड़ा है और इस बार भी सरकार को अपनी हठधर्मी छोड़नी ही पड़ेगी।

‘छोटे दिल से कोई बड़ा नहीं होता’: डॉ. कुमार

कांग्रेस नेता कहा कि अगर मोदी पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ( Former Prime Minister Atal Bihari Vajpayee) को अपना मार्गदर्शक मानते हैं तो उनकी इन पंक्तियों पर भी गौर करना चाहिए “ छोटे दिल से कोई बड़ा नहीं होता और टूटे दिल से कोई खड़ा नहीं होता”। मोदी को बड़प्पन दिखाते हुए किसानों की मांगों को मानना चाहिए और ऐसा करना देश और किसानों के हित में है।

यह भी पढ़ें:

Related Articles

Back to top button