केंद्रीय मंत्री ने मोदी की लोकप्रियता और मॉब लिंचिंग में बताया संबंध, दिया बड़ा बयान

जयपुर: मॉब लीचिंग को लेकर अभी तक विपक्षी दल ही केंद्र की सत्तारूढ़ मोदी सरकार पर निशाना साधते नजर आ रहे थे लेकिन इस बार प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के एक मंत्री ने ही इस मूदे को उठाते हुए उन्हें सवालों के घेरे में लाकर खड़ा कर दिया है। दरअसल, केन्द्रीय मंत्री और राजस्थान बीजेपी के बड़े नेता अर्जुन राम मेघवाल ने अलवर में हुई मॉब लिंचिंग की घटना को उठाते हुए ऐसी घटनाओं को पीएम मोदी से जोड़ा है। दरअसल, मेघवाल ने कहा है कि मोदी जी जितना मशहूर होंगे, मॉब लिंचिंग की घटनाएं उतनी ही बढ़ेंगी।

दरअसल, अलवर में गोतस्करी के आरोप में भीड़ ने अकबर नाम के शख्स को पीट-पीटकर मार दिया था। इस हिंसक घटना की निंदा करते हुए अर्जुन राम मेघवाल ने मॉब लिंचिंग पर कई सवाल भी खड़े किये।

एक समाचार एजेंसी से मिली जानकारी के अनुसार, मेघवाल ने कहा कि मोदी जी जितना मशहूर होंगे, मॉब लिंचिंग की घटनाएं उतनी ही बढ़ेगी। उन्होंने कहा कि आपको इतिहास खोजना पड़ेगा कि ऐसी घटनाएं क्यों हो रही है। उन्होंने कहा कि बिहार चुनाव के वक्त ये ‘अवॉर्ड वापसी’ था, यूपी चुनाव के वक्त ये मॉब लिंचिंग था, 2019 के चुनाव में ये कुछ और होगा, मोदी जी ने योजनाएं दी और उसका असर दिख रहा है, ये उसका एक रिएक्शन है।

बता दें कि राजस्थान के अलवर के रामगढ़ में शुक्रवार (20 जुलाई) की रात को गो तस्करी के शक में कुछ लोगो ने अकबर खान नाम के शख्स की पीट-पीटकर हत्या कर दी।

इस घटना का जिक्र करते हुए अर्जुन राम मेघवाल ने कहा कि हम मॉब लिंचिंग की निंदा करते हैं, लेकिन ये एकमात्र ऐसा वाकया नहीं है, आपको इतिहास में जाना पड़ेगा, ऐसा क्यों होता है? इसे किसे रोकना चाहिए? 1984 में सिखों के साथ जो हुआ वो इस देश के इतिहास में सबसे बड़ा मॉब लिंचिंग था।

Related Articles