IPL
IPL

मोदी सरकार के Central minister ने बेड के लिए ट्वीट करके मांगी मदद, अब दी ये सफाई

नई दिल्ली: कोरोना वायरस से बिगड़ते हालात से हर कोई जूझ रहा हैं। पिछले साल के मुताबिक इस साल हद से ज्यादा त्राहि त्राहि मची है। लोगों को तो अस्पताल में बेड नसीब नही हो रहा। इसकी एक और बानगी देखने को मिली है। केंद्रीय मंत्री (Central minister) जनरल वीके सिंह ने ट्विटर के माध्यम से एक कोरोना संक्रमित शख्स के लिए मदद की गुहार लगाई है।

केंद्रीय मंत्री (Central minister) वीके सिंह के इस ट्वीट के बाद खबर फैली की उन्होंने अपने भाई के लिए बेड उपलब्ध कराने की गुहार लगाई है। जब इस ट्वीट की खूब चर्चा होने लगी तो इसके बाद में उन्होंने स्पष्ट कर दिया कि उन्होंने अपने भाई के लिए बेड की अपील नहीं की है बल्कि किसी और के लिए यह गुहार लगाई है।

ट्वीट पर दी सफाई

उन्होंने ट्विटर पर अपने पहले वाले ट्वीट के बारे में सफाई देते हुए कहा कि मैंने यह ट्वीट इसलिए किया था ताकि जिला प्रशासन पीड़ित शख्स तक पहुंच सके और उसकी मदद कर सके। वो मेरा कोई सगा भाई तो नहीं है, न ही हमारा खून का रिश्ता है लेकिन मानवता का रिश्ता जरूरत है। मुझे नहीं लगता कि यह तरीका कुछ लोगों को रास नहीं आया।

ये भी पढ़ें: जानिए क्यों Kejriwal सरकार ने दिल्ली के दो अस्पतालों के खिलाफ की FIR

पहले ट्वीट में मांगी थी मदद

वीके सिंह ने अपने ट्वीट में लिखा था, ” @dm_ghaziabad Please check this out प्लीज़ हमारी हेल्प करे मेरे भाई को कोरोना ईलाज के लिए बेड की आवश्यकता है.अभी गाजियाबाद में बेड की व्यवस्था नहीं हो पा रही है. @shalabhmani @PankajSinghBJP @Gen_VKSingh”

ये भी पढ़ें: Bihar,तमिलनाडु में हुआ नाईट कर्फ्यू का एलान, पाबन्दिओं की जानकारी के लिए पढ़ें खबर

शलभ मणि त्रिपाठी ने दी प्रतिक्रिया

शलभ मणि त्रिपाठी ने उनके इस ट्वीट पर प्रतिक्रिया देते हुए लिखा है, जिलाधिकारी गाजियाबाद आपसे तत्काल वार्ता कर रहे हैं। बता दें कि वीके सिंह गाजियाबाद से सांसद है और मौजूदा केंद्र सरकार में राज्य सड़क परिवहन और हाइवे मंत्री हैं। उनके इस ट्वीट के बाद ट्विटर यूजर्स ने कहा कि जब आपको मंत्री होने के बाद भी बेड के लिए गुहार लगानी पड़ रही है तो सोचिए आम आदमी के साथ क्या स्थिति होगी।

 

Related Articles

Back to top button