चमोली हादसा Update: ग्लेशियर टूटने से 202 लोग लापता, 18 शव बरामद

उत्तराखंड के चमेली में जोशीमठ के पास तपोवन इलाके में ग्लेशियर टूटने से अब तक हमने 18 शव बरामद किए हैं और लापता लोगों की संख्या 202 है

चमोली: 7 फरवरी को उत्तराखंड (Uttarakhand) के चमोली में जोशीमठ के पास तपोवन इलाके में ग्लेशियर टूटने से अब तक हमने 18 शव बरामद किए हैं और लापता लोगों की संख्या 202 है। ISRO के वैज्ञानिकों की मदद से ग्लेशियर टूटने के कारणों का पता लगाया जाएगा।

टनल में 80 मीटर तक मलबा

उत्तराखंड के डीजीपी अशोक कुमार ने बताया कि अब तक हमने 18 शव बरामद किए हैं और लापता लोगों की संख्या 202 है। हमने टनल में 80 मीटर तक मलबा हटा दिया है, आगे हमारी मशीनें लगी हुई हैं और हमें शाम तक कुछ सफलता मिलने की उम्मीद है।

 

ISRO के वैज्ञानिकों की मदद

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह कहा कि मैंने अपने मुख्य सचिव को बोला है कि यहां मौजूद ISRO के वैज्ञानिकों (ISRO Scientists) की मदद से ग्लेशियर टूटने के कारणों को ढूंढा जाए ताकि भविष्य में हम एहतियात बरत सके।

यह भी पढ़ेनाबालिग के साथ 44 लोगों ने की ये हरकत, जानकर कांप जाएगी रूंह

सुरंग में फंसे लोग

उत्तराखंड त्रासदी पर केंद्रीय मंत्री आर.के. सिंह vने बोला कि इस वक्त हमारे लिए सबसे बड़ी चुनौती सुरंग में फंसे करीब 34 लोगों को बचाना हैं। अभी हम सुरंग के अंदर 70 मीटर तक गए हैं और करीब 180 मीटर तक और जाना है। किस तरह से हम सुरंग से मलवा निकाले इसके लिए पदाधिकारियों के साथ बातचीत की गई है।

त्रासदी पर RJD नेता का बयान

उत्तराखंड त्रासदी पर RJD नेता मनोज अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि जिन परिवारों ने अपनों को खोया हैं ईश्वर उन्हें शक्ति दे। यह आवश्यक है कि हम अपने विकास के मूल्यों और प्रतिमानों पर विचार करें। प्रकृति का शोषण आप कहां तक कर सकते हैं उसकी एक सीमा होनी चाहिए। इस तरह की चीजें दोबारा न हो उस पर विचार करना चाहिए।

यह भी पढ़ेPROPOSE करने की नहीं जुटा पा रहे हो हिम्मत, तो ये लास्ट आइडिया ही आ सकता है काम!

Related Articles

Back to top button