चमोली ग्लेशियर आपदा: NTPC डैम में काम कर रहे लोग लापता, बचाव कार्य जारी

ADG मनोज रावत ने बताया कि ग्लेशियर टूटने से हुए नुकसान को हम अब कम करने का प्रयास कर रहे हैं। बहुत सारे लोग इसमें लापता हुए हैं। NTPC डैम में काम कर रहे लोग लापता हुए हैं और डैम को भारी नुकसान हुआ है

चमोली: ADG मनोज रावत ने बताया कि ग्लेशियर टूटने से हुए नुकसान को हम अब कम करने का प्रयास कर रहे हैं। बहुत सारे लोग इसमें लापता हुए हैं। NTPC डैम में काम कर रहे लोग लापता हुए हैं और डैम को भारी नुकसान हुआ है। उत्तराखंड के चमेली में जोशीमठ के पास तपोवन इलाके में ग्लेशियर टूटने से अब तक हमने 18 शव बरामद किए हैं और लापता लोगों की संख्या 202 है। ISRO के वैज्ञानिकों की मदद से ग्लेशियर टूटने के कारणों का पता लगाया जाएगा।

टनल में 80 मीटर तक मलबा

उत्तराखंड के डीजीपी अशोक कुमार ने बताया कि अब तक हमने 18 शव बरामद किए हैं और लापता लोगों की संख्या 202 है। हमने टनल में 80 मीटर तक मलबा हटा दिया है, आगे हमारी मशीनें लगी हुई हैं और हमें शाम तक कुछ सफलता मिलने की उम्मीद है।

सुरंग में फंसे लोग

केंद्रीय मंत्री आर.के. सिंह, उत्तराखंड त्रासदी पर पर बोले कि इस वक्त हमारे लिए सबसे बड़ी चुनौती सुरंग में फंसे करीब 34 लोगों को बचाना हैं। अभी हम सुरंग के अंदर 70 मीटर तक गए हैं और  करीब 180 मीटर तक और जाना है। किस तरह से हम सुरंग से मलवा निकाले इसके लिए पदाधिकारियों के साथ बातचीत की गई है।

ADG मनोज रावत ने बताया कि ग्लेशियर टूटने से हुए नुकसान को हम अब कम करने का प्रयास कर रहे हैं। बहुत सारे लोग इसमें लापता हुए हैं। NTPC डैम में काम कर रहे लोग लापता हुए हैं और डैम को भारी नुकसान हुआ है।

यह भी पढ़ेPriyanka का मोटिवेशनल Video Viral, आपको भी जरूर देखना चाहिए

स्निफर डॉग (Sniffer Dog) की मदद

चमोली की जिलाधिकारी स्वाति भदौरिया ने कहा कि पुल टूटने से जो 13 गांव अलग हो गए हैं उनके लिए बचाव कार्य शुरू कर दिया गया है और उन्हें राहत सामग्री पहुंचाई जा रही है। हमारी मेडिकल टीमें भी पहुंच गई हैं। जो लोग अलग-अलग पहाड़ों पर फंसे हुए हैं उनके लिए भी बचाव कार्य चल रहा है।

चमोली जिले के तपोवन में टनल में राहत और बचाव कार्य अभी चल रहा है। आईटीबीपी के जवान बचाव कार्य में स्निफर डॉग (Sniffer Dog) की मदद ले रहे हैं।

यह भी पढ़ेUttarakhand: सांसदों के साथ PM मोदी, अमित शाह की खास बैठक

Related Articles

Back to top button