Chamoli Glacier Tragedy Update: रैनी में सर्च ऑपरेशन जारी, 38 शव बरामद

चमोली जिला मजिस्ट्रेट के अनुसार चमोली में अब तक कुल 38 शव बरामद हुए हैं जिसमें 12 की पहचान हो गई  है और 26 अभी भी अज्ञात हैं

उत्तराखंड: उत्तराखंड (Uttarakhand) के चमोली में जोशीमठ के पास तपोवन इलाके में 7 फरवरी को ग्लेशियर फटने से राज्य में अब तक तबाही मची हुई है। चमोली जिला मजिस्ट्रेट के अनुसार चमोली में अब तक कुल 38 शव बरामद हुए हैं जिसमें 12 की पहचान हो गई  है और 26 अभी भी अज्ञात हैं।

टनल के अंदर ड्रिलिंग

उत्तराखंड के डीजीपी अशोक कुमार ने बताया कि तपोवन की बड़ी टनल में से मलबे को हटाया जा रहा है, इसके 71 मीटर नीचे एक छोटी टनल है जिसमें ड्रिलिंग का काम कल किया जा रहा था। तब NTPC की तरफ से जानकारी मिली की वहां मलबा है लेकिन वहां पैशर हाई नहीं है तो अब वहां 1 फूट तक ड्रिलिंग की जाएगी।

बड़ी टनल में हमें प्रगति मिली है। NTPC ने नाप कर बताया है कि टनल को 140 मीटर तक खोदा जा चुका है, मलबा हाटने का काम जारी है।

यह भी पढ़ेIPL 2021 Auction: नीलामी के लिए 1097 में सिर्फ इतने ही खिलाड़ियों का चयन

रैनी में सर्च ऑपरेशन

उत्तराखंड के DGP ने कहा कि रैनी में सर्च ऑपरेशन जारी है और हम हरिद्वार तक ये सर्च ऑपरेशन चला रहे हैं क्योंकि कल मैथाना में एक शव मिला था। रैनी के ऊपर जो झील बनी है वहां रैक्की करने के लिए हमने अपनी 8 SDRF की टीम भेजी थी उनके हिसाब से झील से प्रोपर डिस्चार्च आ रहा है तो यह सुरक्षित क्षेत्र है।

जोशीमठ टनल में बचाव अभियान

उत्तराखंड के चमोली जिले के जोशीमठ टनल में एसडीआरएफ, एनडीआरएफ, आईटीबीपी और अन्य टीमें बचाव अभियान का काम कर रही है।

तपोवन सुरंग

GM, NTPC और परियोजना के कार्यप्रभारी आर.के. अहिरवर ने जानकारी दी कि तपोवन सुरंग में 11.6 मीटर पर पंक्चर कर दिया है। हम छेद को बड़ा करेंगे। इससे हम वहां पर पंपिंग का प्रयास कर सकेंगे। यह अच्छा संकेत है कि वहां से पानी नहीं आ रहा है। अब हम नई मशीन से ड्रील कर बड़ा छेद कर सकते हैं।

यह भी पढ़ेCorona Update: देश में कोविड-19 के 12,143 नए मामले, जानें राज्यों में कोरोना का आंकड़ा

Related Articles

Back to top button