Chamoli Glacier Tragedy Updates: चमोली आपदा में बहे पुल का फिर से निर्माण

चमोली में आपदा के बाद बह गए पुल का फिर से निर्माण किया जा रहा है। BRO के निदेशक ने बताया, ‘यहां 90 मीटर का एक पुल था जो बह गया है

उत्तराखंड: चमोली में आपदा (Chamoli Glacier Tragedy)  के बाद बह गए पुल का फिर से निर्माण किया जा रहा है। BRO के निदेशक ने बताया, ‘यहां 90 मीटर का एक पुल था जो बह गया है। हमने पहले उसका मलबा साफ किया। युद्धस्तर पर काम चल रहा है। हम बहुत जल्दी इस पुल को तैयार कर देंगे। BRO दिन रात काम कर रहा है’।

त्रासदी में लापता हुए लोग

 

उत्तराखंड की DM स्वाति एस. भदौरिया ने बताया कि लापता 204 लोगों में से 38 के शव बरामद कर लिए गए हैं और 2 लोग जीवित पाए गए हैं।

यह भी पढ़ेइंटरनेट पर अश्लील विडियो देखना पड़ सकता महंगा, 1090 की टीम रखेगी नजर

टनल में ड्रिलिंग

उत्तराखंड डीजीपी अशोक कुमार ने कहा कि तपोवन की बड़ी टनल में से मलबे को हटाया जा रहा है, इसके 71 मीटर नीचे एक छोटी टनल है जिसमें ड्रिलिंग का काम कल किया जा रहा था। तब NTPC की तरफ से जानकारी मिली की वहां मलबा है लेकिन वहां पैशर हाई नहीं है तो अब वहां 1 फूट तक ड्रिलिंग की जाएगी।

झील से प्रोपर डिस्चार्च

उत्तराखंड DGP ने कहा कि रैनी में सर्च ऑपरेशन जारी है और हम हरिद्वार तक ये सर्च ऑपरेशन चला रहे हैं क्योंकि कल मैथाना में एक शव मिला था। रैनी के ऊपर जो झील बनी है वहां रैक्की करने के लिए हमने अपनी 8 SDRF की टीम भेजी थी उनके हिसाब से झील से प्रोपर डिस्चार्च आ रहा है तो यह सुरक्षित क्षेत्र है।

सुरंग में 11.6 मीटर पर पंक्चर

उत्तराखंड के NTPC और परियोजना के कार्यप्रभारी ने जानकारी दी कि तपोवन सुरंग में 11.6 मीटर पर पंक्चर कर दिया है। हम छेद को बड़ा करेंगे। इससे हम वहां पर पंपिंग का प्रयास कर सकेंगे। यह अच्छा संकेत है कि वहां से पानी नहीं आ रहा है।अब हम नई मशीन से ड्रील कर बड़ा छेद कर सकते हैं।

यह भी पढ़ेBudget Session Live: निर्मला सीतारमण ने Congress पर किया वार, कहा ‘कांग्रेस ने किसानों को गुमराह किया’

Related Articles

Back to top button