बीजेपी के खिलाफ गठबंधन पर केजरीवाल से मिले नायडू, क्या ‘आप’ और टीडीपी होगी साथ?

नई दिल्ली। अगले साल के लोकसभा चुनावों से पहले नए राजनीतिक मंथन के बीच आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन.चंद्रबाबू नायडू ने दिल्ली के सीएम और आम आदमी पार्टी (आप) के प्रमुख अरविंद केजरीवाल से मुलाकात की। दरअसल, नायडू आंध्र प्रदेश के लिए विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग को लेकर केंद्र सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने के लिए दूसरे दलों का समर्थन जुटाने की कोशिश कर रहे हैं। अब तक वे करीब 8 पार्टियों के 9 नेताओं से मिल चुके हैं। बता दें इससे पहले नायडू की पार्टी टीएमसी ने केंद्र की एनडीए से गठबंधन तोड़ लिया था।

मुख्यमंत्री एन.चंद्रबाबू नायडू

दोनों नेताओं ने आंध्र भवन में मुलाकात की और माना जा रहा है

ऐसा माना जा रहा है कि आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने में मोदी सरकार की उदासीनता के साथ ही अगले लोकसभा चुनाव में बीजेपी के खिलाफ गठबंधन बनाने को लेकर भी चर्चा की गई है। आंध्र प्रदेश के लिए विशेष दर्जे की मांग को लेकर ही टीडीपी ने भाजपा से संबंध तोड़ा है। नायडू आंध्र प्रदेश पुनर्गठन अधिनियम के तहत राज्य को विशेष दर्जे का भरोसा दिए जाने के बावजूद आंध्र प्रदेश से हुए कथित ‘अन्याय’ को लेकर भाजपा की अगुवाई वाली केंद्र सरकार से नाराज हैं।

इससे पहले कई नेताओं से नायडू ने की थी मुलाकात

इससे पहले नायडू ने संसद भवन जाकर कई विपक्षी नेताओं से मुलाकात कर उनके और आंध्र प्रदेश के साथ किये जा रहे मोदी सरकार के रवैये की जानकारी दी और समान विचारधारा के दलों के साथ संभावित गठजोड़ की संभावनाओं पर चर्चा की। चंद्रबाबू नायडू ने एनसीपी के अध्यक्ष शरद पवार, टीएमसी के सुदीप बंद्योपाध्याय, डेरेक ओ ब्रायन से मुलाकात की। इसके अलावा शिवसेना के अनंत गीते, अकाली दल के नरेश गुजराल, बीएसपी के एससी मिश्रा से भी मुलाकात की।

नायडू ने बीजेपी पर लगाए थे आरोप

उल्लेखनीय है कि एनडीए गठबंधन से अलग होने के बाद चंद्रबाबू नायडू ने बीजेपी पर कई गंभीर आरोप लगाए थे। उन्होंने कहा था कि बीजेपी अपने राजनीतिक फायदों के लिए आंध्र प्रदेश समेत देश के कई राज्यों के साथ अन्याय कर रही है। आंध्र विशेष दर्जा देने के वायदे को पूरा न कर आंध्र की जनता को सजा दे रही है। उन्होंने कहा था कि बीजेपी यह समझ नहीं पा रही कि आंध्र प्रदेश के विकास को नुकसान पहुंचा कर वह भारत के विकास को भी बाधित कर रही है।

Related Articles