उत्तराखंड में मौसम साफ होने के बाद शुरू हुई चार धाम यात्रा

उत्तराखंड: उत्तराखंड में लगातार हो रही बारिश के कारण अस्थायी रूप से रोकी गई चार धाम यात्रा गुरुवार को बारिश रुकने के बाद केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री में फिर से शुरू हो गई। हालांकि, बद्रीनाथ में सड़क मार्ग अभी भी अवरुद्ध हैं और मौसम साफ होने के बाद इसे फिर से खोल दिया जाएगा। राज्य में बारिश से संबंधित घटनाओं में कम से कम 54 लोगों की मौत हो गई है।

54 लोगों की चली गई जान

चार धाम तीर्थ यात्रा के लिए श्रद्धालु हरिद्वार व ऋषिकेश से सार्वजनिक व निजी वाहनों से रवाना हो रहे हैं। उत्तराखंड चार धाम देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड के अनुसार, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री में हेलीकॉप्टर सेवा सुचारू हो गई है और जल्द ही जोशीमठ और पीपलकोटी में फिर से शुरू होगी।

बुधवार को बद्रीनाथ में सड़क जाम का निरीक्षण करने वाले जोशीमठ के जिलाधिकारी हिमांशु खुराना और उप कलेक्टर कुमकुम जोशी ने कहा कि राष्ट्रीय राजमार्ग को फिर से खोलने से पहले टांगरी, बेनाकुली और लंबागढ़ जैसे गांवों से मलबा हटाया जाएगा।

लगातार बारिश से अल्मोड़ा हाईवे का एक बड़ा हिस्सा भी पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया है। हल्द्वानी से अल्मोड़ा और अल्मोड़ा से रानीखेत और बागेश्वर तक कई सड़कें क्षतिग्रस्त हो गई हैं जिससे यातायात की आवाजाही प्रभावित हुई है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह राज्य में आपदा प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण करने उत्तराखंड पहुंच गए हैं।

यह भी पढ़ें: UP Election 2022: सरकार बनने पर कांग्रेस देगी लड़कियों को मोबाइल और स्कूटी

Related Articles