चरणजीत चन्नी ने लुधियाना कोर्ट ब्लास्ट की जांच में केंद्र से मांगी मदद

चंडीगढ़: पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत चन्नी ने शुक्रवार को कहा कि उन्होंने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से बात की और उन्हें लुधियाना के जिला अदालत परिसर में हुए विस्फोट से अवगत कराया और जांच में मदद मांगी। गुरुवार को संदिग्ध IED विस्फोट में एक व्यक्ति की मौत हो गई और पांच अन्य घायल हो गए।

मीडिया को सम्बोधित करते हुए कही ये बात

चन्नी ने मीडिया से कहा, “हमें केंद्र की मदद की जरूरत है क्योंकि पंजाब के पास विस्फोट में इस्तेमाल किए गए आरडीएक्स की जांच के लिए उपकरण नहीं हैं।” उन्होंने कहा कि जांच से संकेत मिलता है कि विस्फोट में मरने वाला एकमात्र व्यक्ति बम स्थापित करने की कोशिश कर रहा था। उन्होंने कहा, “अभी तक किसी ने भी विस्फोट की जिम्मेदारी नहीं ली है। यहां तक ​​कि हमारे पास (इसके पीछे के संगठन के बारे में) कोई संकेत नहीं है।”

कपूरथला के एक गुरुद्वारे में एक युवक की हत्या की जांच के संबंध में मुख्यमंत्री ने कहा कि अपमान का कोई सबूत नहीं है। उन्होंने कहा, “जांच एक हत्या की ओर इशारा कर रही है। हम तदनुसार प्राथमिकी (प्रथम सूचना रिपोर्ट) को संशोधित करेंगे।” अमृतसर के स्वर्ण मंदिर में “अपवित्रीकरण” के एक कथित कृत्य के बाद एक व्यक्ति की हत्या के एक दिन बाद युवक की हत्या कर दी गई थी।

गृह मंत्री सुखजिंदर रंधावा और अन्य कैबिनेट सहयोगियों के साथ स्थिति का जायजा लेने के लिए गुरुवार को घटनास्थल पर पहुंचे चन्नी ने मीडिया से कहा कि सरकार द्वारा मादक पदार्थ तस्करों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के बाद इस तरह की घटनाओं में इजाफा हुआ है।

अगले साल की शुरुआत में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले एक साजिश को सूंघने वाले चन्नी ने इसे मतदाताओं का ध्रुवीकरण करने की कोशिश करने वालों की ‘साजिश’ भी बताया। धमाका दोपहर करीब 12:22 बजे कोर्ट परिसर की दूसरी मंजिल के एक वॉशरूम में हुआ, जब कोर्ट काम कर रहा था। कोर्ट जिला आयुक्त कार्यालय के पास स्थित है।

यह भी पढ़ें: देश में ओमिक्रॉन की बढ़ी रफ्तार, इन राज्यों में बढ़े केस, नाइट कर्फ्यू का भी ऐलान

Related Articles