रोजाना सुबह खाली पेट चबाएं ये पत्तियां, दिमाग होगा बूस्टस, मिलेंगे और भी कई फायदे

ब्राह्मी एक औषधीय पौधा है। आयुर्वेद में ब्राह्मी के बारे में कई बातें बताई गई हैं। ब्राह्मी का सेवन करने से कब्ज की समस्या दूर होती है।

लखनऊ: ब्राह्मी एक औषधीय पौधा है। आयुर्वेद में ब्राह्मी के बारे में कई बातें बताई गई हैं। ब्राह्मी का सेवन करने से कब्ज की समस्या दूर होती है। इसके साथ ही रोजाना सुबह खाली पेट ब्राह्मी का सेवन करने से दिमाग बूस्ट होता है। सुबह उठकर खाली पेट ब्राह्मी का सेवन करने के कई फायदे होते हैं।

याददाश्त बढ़ाता है- ब्राह्मी का सेवन करने से याददाश्त बढ़ती है। ब्राह्मी के पाउडर का सेवन दूध या पानी में मिलाकर किया जा सकता है। ये दिमाग तेज करने में फायदेमंद है।

अल्जाइमर को रोकता है- ब्राह्मी से दिमाग की नसें खुल जाती हैं। कुछ रिसर्च के अनुसार इसमें एंटीऑक्‍सीडेंट गुण होते हैं। ये दिमाग को नुकसान पहुंचाने वाले पदार्थों को खत्म करने में मदद करते हैं। इससे अल्जाइमर रोग की रोकथाम की जा सकती है।

ब्रेन इंफेक्शन को रोके- ब्राह्मी के सेवन से आपको दिमाग में मौजूद शिथिल कीटाणुओं को खत्म करने में मदद मिलती है। इतना ही नहीं ये ब्रेन की रक्तकोशिकाओ में खून का संचार बढ़ाने का काम करते हैं।

बंगाल का ब्राह्मी शाक (पौधा) देश में सर्वश्रेष्ठ है। बंगाल के स्वास्थ्य विभाग के वनस्पति शोध काउंसिल के मुताबिक यहां के ब्राह्मी शाक में सबसे ज्यादा बैकोसाइड ए पाया जाता है। इसके बाद देहरादून का स्थान है। बता दें ब्राह्मी स्मृति शक्ति में वृद्धि की औषधि के रूप में विख्यात है। देश के 13 शहरों से एकत्रित किए गए ब्राह्मी शाक के नमूनों पर यह शोध किया गया है।

यह भी पढ़ें: क्या आपने कभी खाया है Kashmiri Lehsun? आम लहसुन की तुलना से है बेहद खास, जानें कैसे

इन शहरों में दक्षिण 24 परगना, सोलन, दिल्ली, यमुनानगर (हरियाणा), चंडीगढ़, हरिद्वार, देहरादून, अंबाला, वाराणसी, सहारनपुर और रोहतक शामिल हैं। देश में मुख्यत: इन्हीं शहरों या उनके आसपास के इलाकोंं में ही ब्राह्मी की खेती होती है। इस आशय अध्ययन की रिपोर्ट प्रतिष्ठित जर्नल क्रॉसमार्क में प्रकाशित हुई है।

यह भी पढ़ें: Independence Day के मौके पर घर और ऑफिस को दें एक नया लुक, जाने कैसे करें डेकोरेट

Related Articles