IPL
IPL

Chhatrapati Shivaji Maharaj Jayanti: सीएम उद्धव ठाकरे ने अर्पित की श्रद्धांजलि, जानें ‘छापामार युद्ध’ की नयी शैली

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने मुंबई में छत्रपति शिवाजी महाराज अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर ‘छत्रपति शिवाजी महाराज’ को श्रद्धांजलि अर्पित की है

महाराष्ट्र: छत्रपति शिवाजी महाराज (Chhatrapati Shivaji Maharaj) की जयंती पर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने मुंबई में छत्रपति शिवाजी महाराज अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की है। शिवाजी महाराज भारत के महान राजा थे इन्होंने मराठा साम्राज्य की नींव रखी थी।

मराठा साम्राज्य की नींव

छत्रपति शिवाजी महाराज ने 1674 ई. में पश्चिम भारत में मराठा साम्राज्य की नींव रखी थी। इसके लिए उन्होंने मुगल साम्राज्य के शासक औरंगजेब से संघर्ष किया। सन् 1674 में रायगढ़ में उनका राज्याभिषेक हुआ और वह ‘छत्रपति’ बन गए। छत्रपती शिवाजी महाराज (Shivaji Maharaj) ने अपनी अनुशासित सेना एवं सुसंगठित प्रशासनिक इकाइयों कि सहायता से एक योग्य एवं प्रगतिशील प्रशासन प्रदान किया। उन्होंने समर-विद्या में अनेक नवाचार किए तथा छापामार युद्ध (Guerilla warfare) की नयी शैली (शिवसूत्र) विकसित की।

उन्होंने प्राचीन हिन्दू राजनीतिक प्रथाओं तथा दरबारी शिष्टाचारों को पुनर्जीवित किया और  मराठी एवं संस्कृत को राजकाज की भाषा बनाया। वे भारतीय स्वाधीनता संग्राम में नायक के रूप में स्मरण किए जाने लगे। बाल गंगाधर तिलक ने राष्ट्रीयता की भावना के विकास के लिए शिवाजी जन्मोत्सव की शुरुआत की। शिवाजी का जन्म 19 फरवरी, 1630 को शिवनेरी दुर्ग में हुआ था। उनके पिता शाहजी भोंसले एक शक्तिशाली सामंत थे। उनकी माता जीजाबाई जाधव कुल में उत्पन्न असाधारण प्रतिभाशाली महिला थी। शिवाजी के बड़े भाई का नाम सम्भाजी था जो अधिकतर समय अपने पिता शाहजी भोसलें के साथ ही रहते थे। शाहजी राजे कि दूसरी पत्नी तुकाबाई मोहिते थीं। उनसे एक पुत्र हुआ जिसका नाम एकोजी राजे था।

गुरिल्ला युद्ध क्या है? - Quora

शिवाजी महाराज की शिक्षा

शिवाजी महाराज (Shivaji Maharaj) का बचपन उनकी माता के मार्गदर्शन में बीता। उन्होंने राजनीति एवं युद्ध की शिक्षा ली थी। वे उस युग के वातावरण और घटनाओं को भली प्रकार समझने लगे थे। उनके हृदय में स्वाधीनता की लौ प्रज्ज्वलित हो गयी थी। उन्होंने कुछ स्वामिभक्त साथियों का संगठन किया।

यह भी पढ़ेUP police Recruitment 2021: यूपी पुलिस ने निकाली 1329 पदों की भर्ती, जानें पूरा Detail

Related Articles

Back to top button