छत्तीसगढ़ में नक्सलियों के साथ फिर से मुठभेड़, एक जवान शहीद

छत्तीसगढ़ में लगातार दो दिन से सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ जारी है. धमतरी इलाके में शुक्रवार सुबह नक्सलियों से मुठभेड़ में CRPF का 1 जवान शहीद हो गया. वहीं एक जवान गंभीर रूप से घायल है. मिली जानकारी के अनुसार इस मुठभेड़ में नक्सलियों को भारी नुकसान हुआ है. इससे पहले गुरुवार को भी छत्तीसगढ़ में कांकेर जिले के पंखाजूर में नक्सलियों ने बीएसएफ की सर्चिंग टीम पर घात लगाकर हमला किया, इसमें एक एएसआई समेत चार जवान शहीद हो गए. मुठभेड़ में दो जवान घायल भी हुए, जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

एंटी नक्सल ऑपरेशन के डीआईजी सुंदराज पी ने बताया कि गुरुवार सुबह नक्सलियों की लोकेशन मिलने पर बीएसएफ-114 बटालियन के जवान सर्चिंग पर निकले थे. पंखाजूर से करीब 35 किमी दूर प्रतापुर थाना क्षेत्र में मोहला के जंगलों में उन पर घात लगाकर हमला किया गया. इसमें एक जवान ई रामकृष्णन की मौके पर ही मौत हो गई. बाद में तीन और जवान एएसआई बोरो, सोमेश्वर और इसरार खान ने पखांजूर के अस्पताल में दम तोड़ दिया.

नक्सलियों और जवानों के बीच मुठभेड़ गुरुवार दोपहर 11.45 बजे शुरू हुई थी. नक्सलियों के द्वारा बीएसएफ की 114 बटालियन को निशाना बनाया गया. बताया जा रहा है कि इस मुठभेड़ में कई नक्सली भी घायल हुए हैं.

नक्सलियों कर रहे हैं चुनाव का बहिष्कार

आम चुनाव से ठीक पहले नक्सली गतिविधियां तेज हो गई हैं. 18 अप्रैल को दूसरे चरण में कांकेर में मतदान होना है. कुछ दिन पहले ही नक्सलियों ने पर्चे फेंककर चुनाव का विरोध किया था. लोगों को मतदान न करने की धमकी भी दी थी.

बता दें कि नक्सली चुनाव विरोध करते आए हैं इससे पहले भी बीते साल के विधानसभा चुनाव के लिए ड्यूटी पर जा रहे बीएसएफ जवानों पर 11 नवंबर को हमला किया गया था. इसमें एसआई महेंद्र कुमार शहीद हो गए थे. 14 नवंबर को मतदान कराकर लौट रहे जवानों पर भी हमला किया गया. हालांकि इस हमले को नाकाम कर दिया गया था.

Related Articles