मुख्यमंत्री ने किया बैलून सेवा का उद्घाटन, बेहतर होगी इंटरनेट और मोबाइल सेवा

0

देहरादून। बैलून तकनीक के तहत मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने यहां के दुर्गम गावों को एक बड़ी सौगात दी। इसके द्वारा सरकार का लक्ष्य इंटरनेट और मोबाइल सेवा को पहले से बेहतर और सुद्रढ़ बनाना है। इस तकनीक का इस्तेमाल उन इलाकों में किया जाएगा जहां नेटवर्क प्रॉब्लम अधिक रहती है। बता दें मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह ने आईटीडीए सभागार में बैलून सेवा का ट्रायल शुरू किया।

देहरादून टी-20 : राशिद खान की फिरकी ने अफगानिस्तान को दिलाई…

बैलून तकनीक

खबरों के मुताबिक़ केंद्रीय सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय की मदद से उत्तराखंड इंफॉरमेशन टेक्नोलॉजी डेवलेपमेंट एजेंसी (आईटीडीए) बैलून तकनीक का सहारा लेने जा रही है।

सीएम ने कहा कि इस बैलून से सेवा से पहाड़ी इलाकों को फायदा होगा। यह सुविधा राज्य के सुदूरवर्ती और सीमांत क्षेत्रों में संचार सुविधाएं दुरुस्त करने के लिए बहुत मददगार साबित होगी।

उत्तराखंड में कुदरत ने फिर बरपाया कहर, आकाशीय बिजली गिरने से…

उन्होंने कहा कि यह तकनीक सामान्य परिस्थितियों के अलावा आपदा के वक्त मदद पहुंचाने की दिशा में भी कारगर सिद्ध होगी। उत्तराखंड देश का पहला राज्य है, जहां बैलून तकनीक का ट्रायल किया गया है।

बता दें प्रदेश में 16,870 गांवों में से 680 गांव ऐसे हैं, जहां मोबाइल-इंटरनेट की पहुंच अभी तक नहीं है। इसमें से अधिकतर गांव और दुर्गम क्षेत्र में हैं, जहां दूर संचार लाइन बिछाना, टावर लगाने से लेकर दूसरे काम करना बेहद मुश्किल हैं।

इस सुविधा के तहत 50 मीटर अधिकतम ऊंचाई तक जाने वाले बैलून पर सिग्नल देने के लिए एक एंटीना लगा होगा। एंटीना तार के माध्यम से जमीन पर लगे बेस स्टेशन (कंट्रोल पैनल समेत सभी उपकरण) से जुड़ा होगा।

सिग्नल ऑन होते ही बैलून के माध्यम से 20 से 45 किमी की परिधि में आने वाले क्षेत्र में मोबाइल फोन और इंटरनेट की सुविधा शुरू हो जाएगी। बस उपभोक्ता को अपने मोबाइल का डेटा पैक ऑन करना होगा।

loading...
शेयर करें