मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा, प्रदेश के जनजातीय बहुल क्षेत्रों में कालेजों की संख्या बढ़ाई जायेगी

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि जनजातीय बच्चों को उच्च शिक्षा के लिए कहीं नही भटकना पड़ेगा

सीहोर: मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि जनजातीय बच्चों को उच्च शिक्षा के लिए कहीं नही भटकना पड़ेगा। प्रदेश के जनजातीय बहुल क्षेत्रों में कालेजों की संख्या बढ़ाई जायेगी।

मुख्यंमत्री चौहान कल यहाँ नसरुल्लागंज तहसील के लालकुई गांव में 65 लाख रुपये से नवनिर्मित शासकीय स्नातक महाविद्यालय भवन का लोकार्पण करने के बाद उपस्थित जनसमुदाय को संबोधित करते हुए कहा कि अब 30 कमरों का कालेज भवन बनकर तैयार है और अब लाड़कुई सहित आसपास के बच्चों की कॉलेज की पढ़ाई आसान हो जाएगी।

बच्चों की उच्चशिक्षा के लिए जो भी करना होगा किया जाएगा। उन्होंने कहा कि अब बच्चे उच्च शिक्षा के लिए भोपाल या नसरुल्लागंज और सीहोर नहीं जाना पड़ेगा। उन्होंने घोषणा की कि अप्रैल 2021 के बाद बीएससी और बीकाम की पढ़ाई भी प्रारंभ की जाएगी।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने ग्रामीणों का आव्हान किया कि अब इस कॉलेज की देख भाल लाड़कुई वासियों को करना है क्योंकि यह भवन नहीं शिक्षा का मंदिर है। उन्होंने दशहरा मैदान बनाये जाने की पर भी विचार करने का आश्वासन दिया। उन्होंने भवन बच्चों को सौपते हुए उनके सुनहरे भविष्य की कामना करता हूँ।

यह भी पढ़े: ममता सरकार अपना कार्यकाल करे पूरा, जनता उन्हें सत्ता से हटाएगी: अमित शाह 

Related Articles