बस हाईजैक मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सख्त, कड़ी कार्रवाई के दिए निर्देश

लखनऊ:यूपी के आगरा में बस हाइजैक मामले में बड़ी जानकारी मिली है. हाइजैक बस की 34 सवारियां दूसरी बस से झांसी पहुंच गई है.राहत की बात ये है कि बस में बैठी सभी 34 सवारियां सुरक्षित हैं, लेकिन हाईजैक बस का अभी तक कोई जानकारी नहीं मिली है. बस अभी तक ट्रेस नहीं हो पाई है.

अपहरण कर्ताओं ने ख़ुद को बताया था रिकवरी एजेंट

इस मामले में एक मजेदार मोड़ तब आया था जब पता चला बस को हाइजैक करने वालों ने खुद को लोन रिकवरी एजेंट बताया था.सबसे पहले कुछ फोर व्हीलर सवार लोगों ने हाइवे पर बस को ओवरटेक कर के रोका था.वो लोग बस ड्राइवर और कंडक्टर को फॉर व्हीलर में ले गए और एक ड्राइवर के मदद से यात्रियों सहित बस को झांसी ले गए. जहाँ यात्रियों को बस से उतार दिया.औत बस लेके चले गए. यात्रियों का तो पता चल गया है लेकिन बस का अब तक कोई सुराग नहीं मिल पाया है.

मुख्यमंत्री ने दिए त्वरित कार्यवाई के निर्देश

अब इस मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सख्त रूख अपना लिया है. सीएम ने कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए हैं.अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने बताया कि मामले में डीएम आगरा व एसएसपी को कठोर कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं. अवस्थी ने कहा कि डीएम और एसएसपी से मामले में रिपोर्ट भी तलब की गई है. उन्होंने बताया कि सभी यात्री सुरक्षित हैं. बस मालिक की मंगलवार रात को ही मौत हुई है और उनके बेटे अंतिम संस्कार में लगे हुए हैं. लिहाजा उनके फ्री होते ही  पूरी जानकारी ली जाएगी.

Related Articles