गोरखनाथ मंदिर पहुंचे मुख्यमंत्री योगी, फरियादियों की समस्याओं को सुना, दिया आश्वासन

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को गोरखनाथ मंदिर परिसर में 200 से अधिक फरियादियों की समस्या सुनी

गोरखपुर: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को गोरखनाथ मंदिर परिसर में 200 से अधिक फरियादियों की समस्या सुनी और उनकी समस्या के समाधान का आश्वासन दिया।  वह पूजा-अर्चना के बाद फरियादियों के बीच पहुंचे और वहां मौजूद लगभग 200 से अधिक फरियादियों की समस्या सुनी। मुख्यमंत्री योगी फरियादियों की समस्या के समाधान का आश्वासन दिया और साथ ही अधिकारियों को निर्देश भी देते रहे।

सुबह साढ़े पांच बजे योगी अपने कक्ष से निकले और सीधे गुरू गोरखनाथ के दर्शन को पहुंचे। उन्होंने गुरू गोरखनाथ की विधिवत पूरे विधि विधान से पूजा अर्चन की और उसके बाद ब्रहमलीन गुरू अवेद्यानाथ के समाधि स्थल पर जाकर उनका आर्शीवाद लिया। बाद में वह गौशाला पहुंचे और गायों को गुड़ चना खिलाया। इसके बाद वह गरीब फरियादियों के बीच पहुंच गये । एक-एक कर फरियादी आते रहे। मुख्यमंत्री उनकी समस्यायें पूरी गंभीरता से सुनकर समाधान का आश्वासन देते रहे। यह सिलसिला करीब साढे आठ बजे तक चला।

मुख्यमंत्री ने दिया बैठक में निर्देश

मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी ने इसके पूर्व कल रात गोरखनाथ मन्दिर मे गोरखपुर महोत्सव,खिचडी मेला और विकास के सम्बन्धित बैठक मे निर्देश दिया कि जगल कौडिया-मोहद्दीपुर फोरलेन सडक का निर्माण कार्य 10 जनवरी तक पूर्ण किया जाये। सड़क पर स्ट्रीट लाईट लगाकर रोशषनी की व्यवस्था किया जाये।मुख्यमंत्री योगी कहा कि खिचडी मेले से पूर्व मार्ग परिवर्तन वाले सडको को भी ठीक कर लिया जाये और मेले मे प्लास्टिक का प्रयोग न किया जाये, लोगो को प्लास्टिक का प्रयोग न करने के लिये जागरूक भी किया जाये, व्यापार मंडल के साथ भी बैठक करके उन्हे भी कागज के थैले आदि के प्रयोग करने के लिये अनुरोध किया जाये और क्षेत्र को प्लास्टिक फ्री जोन घोषित किया जाये।

5 फरवरी को चौरीचौरा काण्ड का 100 वर्ष पूर्ण हो रहा है। इस परिपेक्ष्य मे चौरीचौरा में भव्य वर्चुअल कार्यक्रम के आयोजन की कार्य योजना बनाकर वर्ष भर कार्यक्रम आयोजित किया जाये। चौरी चौरा पर डाक टिकट भी जारी कराया जाये साथ ही बच्चो के कार्यक्रम लाईट एण्ड साउन्ड शो भी आयोजित किया जाये।उन्होने चौरी चौरा स्मारक तक पहुचने के लिये मार्ग मे पड़ने वाले रेलवे फाटक पर रेलवे से बात कर अण्डरपास या ओवरब्रिज के निर्माण भी कराने का निदेश दिया।

यह भी पढ़े:बदलते मौसम और बढ़ती ठंड में बच्चों का रखें विशेष ख्याल : डॉ़ चौरसिया

Related Articles

Back to top button