कंपकंपाती ठंड में बिना जूते-मोजे स्वेटर में स्कूल जाने को मजबूर बच्चे, पढ़िए ये खबर

ठंड में बिना जूता, मोजे और स्वेटर पहने स्कूल आने को मजबूर

उत्तर भारत में ठंड का प्रकोप जारी है. वहीं परिषदीय स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों को ठंड से बचने के लिए योगी सरकार उनके खातों में 11 रुपये भेजती है. जिससे वह जूता मोजा खरीद सकें. लेकिन 15 दिसंबर बीत जाने के बाद भी अभी तक अंबेडकर नगर के परिषदीय स्कूलों में पढ़ रहे बच्चों के अभिभावकों के खाते में पैसे नहीं आएं है. इस कारण बच्चे सर्दी में बिना जूता, मोजे और स्वेटर पहने स्कूल आने को मजबूर हैं.

60 फीसदी खातों में नहीं पहुंची धनराशि

अंबेडकरनगर जिले में 1500 से ज्यादा परिषदीय विद्यालय है. इसके तहत 28,407 बच्चों के अभिभावक के खाते में डीबीटी के माध्यम से 1100 रुपये भेजे जाने थे. बावजूद इसके, अभी तक सिर्फ 40 फीसदी बच्चों के अभिभावकों के खाते में ही धनराशि पहुंच सकी है. वहीं, 60 फीसदी बच्चों के खाते में पैसा नहीं गया.

आधार कार्ड से लिंक नहीं था अकाउंट

शासन ने पहले चरण में 87596 बच्चों के खाते में डीबीटी के माध्यम से 1100 रुपये ड्रेस आदि खरीदने के लिए पैसा भेजा था. जबकि 46195 छात्रों का खाता उनके आधार कार्ड से लिंक नही था. इसकी वजह से रिजेक्ट हो गया था. अभी तक 140811 छात्रों के खाते में पैसा नहीं गया. इस कारण उन्हें सर्दी में बिना स्वेटर पहने स्कूल आना पड़ रहा है.

यह भी पढ़ें- UP चुनाव से पहले योगी सरकार का बड़ा फैसला, आदेश जारी

(Puridunia हिन्दी, अंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब  पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)…

Related Articles