मुख्यमंत्री के स्वागत में बच्चों को किया खड़ा, आयोग अध्यक्ष ने जारी किया नोटिस

0

मध्यप्रदेश। मध्यप्रदेश के सतना जिले में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान स्कूली छात्र-छात्राओं को स्वागत के लिए खड़े किए जाने के मामले में राज्य मानवाधिकार आयोग के अध्यक्ष न्यायमूर्ति नरेंद्र कुमार जैन ने सतना के जिलाधिकारी को नोटिस जारी किया है।

इस मामले की नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने शिकायत की थी। आयोग को नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह द्वारा शिकायत की गई थी कि सतना जिले में राजनीतिक कार्यक्रम के दौरान स्कूली छात्र-छात्राओं की अघोषित छुट्टी कर उन्हें घंटों सड़कों पर रखा गया। उनके शिकायती आवेदन पर संज्ञान लेते हुए मानवाधिकार आयोग के अध्यक्ष जैन ने सतना के जिलाधिकारी को फैक्स भेजकर रिपोर्ट तलब की है।

राज्य मानवाधिकार आयोग ने भोपाल के कमला पार्क के समीप स्थित वर्धमान उद्यान की देखभाल एवं साफ-सफाई न किए जाने के संबंध में भोपाल नगर निगम के आयुक्त से विस्तृत प्रतिवेदन देने कहा है। इसके लिए निगमायुक्त या सक्षम अधिकारी से विस्तृत जानकारी व रिपोर्ट तलब की है।

आयोग को शिकायत प्राप्त हुई थी कि उद्यानों में नियमित रूप से साफ-सफाई नहीं होती, जबकि यहां जन सामान्य सुबह-शाम भ्रमण के लिए आते हैं और साफ-सफाई के अभाव में प्रदूषित वातावरण में उन्हें सैर करना पड़ता है।

मानव अधिकार आयोग की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार, आयोग कार्यालय में उपस्थित हुए 12 आवेदकों की सुनवाई करते हुए उनके द्वारा दिए गए आवेदनपत्र पर पुलिस महानिदेशक एवं बालाघाट के पुलिस महानिरीक्षक से दो सप्ताह में प्रतिवेदन तलब किया गया है।

मामला बालाघाट जिले के पुलिस अधीक्षक एवं अन्य पुलिसकर्मियों द्वारा आउट ऑफ टर्म प्रमोशन एवं इनाम पाने का है। बैगा आदिवासी (संरक्षित जनजाति) एवं गौड़ आदिवासी (अनूसचित जन जाति) को फर्जी रूप से नक्सली घोषित कर झूठा मामला बनाकर उनके साथ मारपीट एवं अमानवीय यातना देकर प्रताड़ित और गिरफ्तार किए जाने की शिकायत की गई थी।

loading...
शेयर करें