चीन ने किया स्वीकार, सैन्य अधिकारियों के साथ जवानों की भी हुई थी मौत

चीन ने अपने सैनिकों के हताहत होने की कोई जानकारी शेयर नहीं की थी।

बीजिंग: चीन ने आधिकारिक तौर पर पहली बार यह स्वीकार किया है कि पिछले साल जून माह में गलवान घाटी में भारतीय सेना के साथ झड़प के दौरान उसके सैन्य अधिकारियों और जवानों की मौत हुई थी। इसके पहले इस झड़प में केवल अनुमान लगाया जा रहा था कि चीन के सैन्य अधिकारियों के साथ उनके जवानों की भी मौत हुई थी।

आपको बता दे कि गलवान ( Galvan ) में झड़प के दौरान मरने वालों में पीपल्स लिबरेशन आर्मी ( People’s Liberation Army ) की शिनजियांग सेना कमान का रेजिमेंटल कमांडर ( Regimental commander ) क्वि फबाओ शामिल हैं।

पहली बार इस बात की पुष्टि की

चीन के ग्लोबल टाइम्स ( Global Times ) ने इस खबर को प्रमुखता से छापा और पीएलए से जारी सूचना के आधार पर पहली बार इस बात की पुष्टि की है कि गलवान में भारतीय जवानों के साथ झड़प में उसके सैनिक भी मारे गए थे।

आपको बता दें कि जून माह में गलवान घाटी में भारतीय सैनिकों और चीनी सैनिकों के बीच एलएसी ( Line of Actual Control ) पर हुई झड़प में 20 भारतीय सैनिक शहीद हुए थे। भारत की सेना और सरकार की ओर से इस शहादत की खबर जारी की गई थी। लेकिन चीन ने अपने सैनिकों के हताहत होने की कोई जानकारी शेयर नहीं की थी। अब पहली बार चीन ने अपने सैनिकों की शहादत की बात मानी है।

यह भी पढ़ें: बाबा राम देव ने एक बार फिर कहा, कोरोनिल है कोरोना ( Covid-19 ) की असली दवा

Related Articles

Back to top button