चीन और पाकिस्तान ने किया Taliban Government का समर्थन 

काबुल : राष्ट्रपति के देश छोड़ भागने और राजधानी पर काबिज़ होने के बाद अब अफगानिस्तान पर पूरी तरह से अब Taliban Government का कब्जा हो गया है। इस कड़ी में आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अमेरिका समर्थित अफगान सरकार के गिरने के बाद तालिबान के आतंकवादियों ने रविवार को काबुल पर कब्जा कर लिया था। इस कड़ी में आपकी जानकारी के लिए बता दें की अफ़ग़ानिस्तान को निगलने में तालिबान को सिर्फ बाइस दिन लगे।

मॉडर्न सोंच के लोगों को Taliban Government से है खतरा

महिलाओं, युवाओं और मॉडर्न विचारों को मानने वाले लोगों के लिए खतरनाक तालिबान को चीन, ईरान और पाकिस्तान का भरपूर समर्थन मिल रहा है। इस कड़ी में चीन ने सोमवार को उम्मीद जताई कि तालिबान अफगानिस्तान में खुले एवं समग्र इस्लामिक सरकार की स्थापना के अपने वादे को निभाएगा और बिना हिंसा एवं आतंकवाद के शांतिपूर्ण तरीके से सत्ता हस्तांतरण सुनिश्चित करेगा।

यह भी पढ़ें : अफगानिस्‍तान पर तालिबानी राज से BCCI चिंतित, IPL में इन खिलाड़ियों के खेलने पर संशय

अफगानिस्तान की सरकार गिरने के बाद पहली बार प्रतिक्रिया जताते हुए चीन के फॉरेन मिनिस्ट्री के प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने पत्रकारों से बातचीत में उम्मीद जताई कि तालिबान सत्ता के शांतिपूर्ण हस्तांतरण के वादे को निभाएगा, अफगान नागरिकों और विदेशी राजदूतों की सुरक्षा की पूरी जिम्मेदारी लेगा। अपने बयान में चीन के प्रवक्ता आगे कहा कि अफगानिस्तान अब अपनी किस्मत का फैसला खुदकर सकता है क्यूंकि  चीन उनके इस हक की इज्जत करता है। चीन अफगानिस्तान के साथ मैत्रीपूर्ण और सहयोगात्मक रिश्ते विकसित करने की दिशा में आगे बढ़ने के लिए इच्छुक है।

यह भी पढ़ें : युवक ने महिला दरोगा को प्यार के जाल में फंसाया, दुष्कर्म करके लाखों रुपये खाते से उड़ाया

Related Articles