चीन ने मानवाधिकारों के हनन की जांच को लेकर की Uighur Tribunal की आलोचना 

शंघाई : चीन ने शिनजियांग में मानवाधिकारों के हनन की जांच को लेकर Uighur Tribunal जो की  एक स्वतंत्र यूके बेस्ड पैनल है, की आलोचना करते हुए  कहा कि इसका कानून, न्याय या सच्चाई से कोई लेना-देना नहीं है।

Uighur Tribunal रखता है चीन पर नज़र

इस कड़ी में चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियन ने  बीजिंग में एक संवाददाता सम्मेलन के दौरान कहा कि उइगर ट्रिब्यूनल कितने ‘अभिनेताओं या अभिनेत्री’ की भर्ती करता है और कितनी ‘सुनवाई’ की व्यवस्था करता है, यह कंगारू अदालत और एक व्यर्थ प्रयास के अलावा और कुछ नहीं है, जो अमेरिका के लिए काम करता है। झाओ ने कहा, “इसका कानून, न्याय या सच्चाई से कोई लेना-देना नहीं है, और शिनजियांग पर हमला करने और उस पर हमला करने के लिए सिर्फ एक और नाटक है।”

यह भी पढ़ें : साकीनाका रेप-मर्डर: CM उद्धव ठाकरे ने फास्ट ट्रैक ट्रायल का किया वादा

इस कड़ी में आपकी जानकारी के लिए बता दें उइगर ट्रिब्यूनल ब्रिटेन के वकीलों और अधिकार विशेषज्ञों का एक पैनल है जो चीन के शिनजियांग क्षेत्र में मानवाधिकारों के उल्लंघन और नरसंहार की रिपोर्ट की जांच करता है।

यह भी पढ़ें : प्रेमिका बनी हत्यारन! प्रेमी के शादी के रोका वाले दिन लड़के को दी खौफनाक सजा

Related Articles