हांगकांग के मामलों में हस्तक्षेप करने पर चीन ने इस बड़े देश को दी धमकी

बीजिंग :  चीन (China) ने दिसंबर में हांगकांग (Hong Kong) पासपोर्ट धारकों को सुरक्षा वीजा देने के लिए ऑस्ट्रेलिया (Australia) को धमकी दी है और कैनबरा को हांगकांग के मामलों में हस्तक्षेप छोड़ने के लिए कहा है।

चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेनबिन (Wang Wenbin) ने सोमवार को कहा कि हांगकांग से संबंधित मुद्दों पर चीन की स्थिति सुसंगत और स्पष्ट है। चीन के सरकारी न्यूज़ चैनल ग्लोबल टाइम्स ने वांग के हवाले से कहा कि हांगकांग (Hong Kong) के मामले पूरी तरह से चीन के आंतरिक मामलों में आते हैं और किसी भी बाहरी देश को चीन के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप करने का अधिकार नहीं है। वांग ने कहा कि चीन आस्ट्रेलिया को स्पस्ट संदेश देता है कि वह किसी भी तरीके के हांगकांग के मामलों और चीन के आंतरिक मामलों में दखल देना बंद करे, नहीं तो इससे चीन-ऑस्ट्रेलिया संबंधों को और नुकसान पहुंच सकता है।

बता दें कि सोमवार को ऑस्ट्रेलिया के गृह विभाग की एक रिपोर्ट के अनुसार सबक्लास 866 ऑनशोर प्रोटेक्शन वीजा हांगकांग पासपोर्ट धारकों के लिए उपलब्ध है। आस्ट्रेलियाई मीडिया ने सोमवार को बताया कि इस तरह के वीजा आवंटन 2010 के बाद पहली बार दिए गए हैं।

कई महीनों से दोनों के बीच चल रहा व्यापार युद्ध

चीन-ऑस्ट्रेलिया के संबंधों में तनाव पिछले साल अप्रैल महीने से ही शुरू हो गए थे, जब ऑस्ट्रेलिया ने कोविद -19 महामारी की उत्पत्ति को लेकर चीन में स्वतंत्र अंतर्राष्ट्रीय जांच का प्रस्ताव दिया था। इसके अलावा दोनों देशों के बीच कई महीनों से व्यापार युद्ध भी चल रहा है।

इसे भी पढ़े: ISF को लेकर पार्टी में बगावत के बीच कांग्रेस ने किया गठबंधन का ऐलान, इन प्रमुख सीटों पर उतारेगी प्रत्याशी

जिसमें चीन (China) ने डंपिंग और अन्य व्यापार नियमों के उल्लंघन का हवाला देते हुए अरबों डॉलर के ऑस्ट्रेलियाई उत्पादों पर प्रतिबंध लगा दिए है। इस उत्पादों में गोमांस, जौ और शराब शामिल है। इसके अलावा चीन ने नवंबर की शुरुआत से ही कोयला, चीनी, जौ, झींगा मछली, तांबा और लॉग लकड़ी के ऑस्ट्रेलियाई आयात पर प्रतिबंध लगा दिया है।

Related Articles