भारत के सामने चीन ने टेके घुटने, 48 घंटे में LAC खाली करने का किया ऐलान

नई दिल्ली : भारत और चीन (India and China) के बीच सैन्य और राजनयिक स्तर पर निरंतर वार्ता के फलस्वरूप दोनों देश वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) से अपनी सेना हटाने के लिए सहमत हो गए हैं। विदेश मंत्रालय (MEA) ने शुक्रवार को कहा कि भारतीय सेना (Indian Army) और चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) की वास्तविक नियंत्रण रेखा से सैनिकों के पूर्ण विस्थापन के 48 घंटे के भीतर कमांडर स्तर की 10वें दौर की वार्ता आयोजित की जाएगी।

वहीँ रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने गुरुवार को संसद में बताया कि चीन के साथ वार्ता के दौरान भारत की रणनीति और दृष्टिकोण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) के निर्देशों पर आधारित रही कि हम अपने क्षेत्र का एक इंच हिस्सा भी किसी को लेने नहीं देंगे। यह हमारे दृढ़ संकल्प का परिणाम है कि हम स्थिति तक पहुँच चुके हैं।

भारतीय सेना LAC पर अपनी पोजीशन रखेगी बरकरार

रक्षा मंत्री (Defense Minister) ने कहा कि चीनी पक्ष नॉर्थ बैंक क्षेत्र में अपनी सैन्य उपस्थिति फिंगर 8 के पूर्व में रखेगा और भारतीय सेना पहले की भांति अपने स्थायी आधार फिंगर 3 के पास धन सिंह थापा पोस्ट पर आधारित रहेगी।

इसे भी पढ़े: फिर से कांपी भारत की धरती, दिल्ली-एनसीआर समेत कई राज्यों में भूकंप के तेज झटके

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव (Anurag Shrivastava) ने एक साप्ताहिक ब्रीफिंग में कहा, “सैन्य और राजनयिक स्तर पर कई दौर की बातचीत के बाद यह समझौता हुआ है। प्रवक्ता ने आगे कहा कि भारत-चीन (India and China) सीमा मामलों (WMCC) पर परामर्श और समन्वय के लिए कार्य तंत्र की कोई तिथि निर्धारित नहीं की गई है।

बता दें कि चीनी सेना की एकतरफ़ा कार्रवाई के कारण दोनों देशों के बीच पिछले साल अप्रैल-मई से एलएसी पर गतिरोध बना हुआ था, जो कि कई दौर की सैन्य और कूटनीतिक वार्ता के बाद ख़त्म हो रहा है। दोनों देश अपनी- अपनी सेनाओं को LAC से पीछे हटाने पर सहमत हो गए हैं।

Related Articles

Back to top button