चीन की अमेरिका को नसीहत, अफगानिस्तान से सैनिकों की वापसी करे अमेरिका

चीन ने अमेरिका को अफगानिस्तान से सैनिकों की वापसी की नसीहत देते हुए उसे सबसे बड़ी बाहरी ताकत करार दिया है।

नई दिल्लीः अमेरिकी चुनावों की सुगबुगाहट के बीच चीन ने अमेरिका को अफगानिस्तान से सैनिकों की वापसी की नसीहत देते हुए उसे सबसे बड़ी बाहरी ताकत करार दिया है।

गौरतलब है कि चीन वाखान गलियारे के जरिये अफगानिस्तान से सीमा साझा करता है। इसी कड़ी में अफगानिस्तान में शांति बहाली के मामले पर बात करते हुए चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियान ने कहा है कि, अफगानिस्तान बेहद जटिल मुद्दा है और इसे सुलझाना कठिन है। इसके लिए आंतरिक और बाहरी ताकतों को एक ही दिशा में मिलकर काम करना होगा अन्यथा यह अनुत्पादक हो जाएगा और अफगानिस्तान मामले में अमेरिका सबसे बड़ी बाहरी ताकत है।

दरअसल अफगानिस्तान से सैनिकों की वापसी अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के चुनावी घोषणापत्र का हिस्सा थी। इसी के साथ सत्ता में आने के बाद ट्रंप ने सैनिकों की वापसी के कई असफल प्रयास भी किए। मगर, स्थानीय चरमपंथी संगठन तालीबान से बात न बन पाने के कारण राष्ट्रपति ट्रंप की कोशिशें अधूरी रह गयीं।

हालांकि तमाम कोशिशों के मद्देनजर अमेरिका और तालीबान ने हाल ही अफगान समझौते पर हस्ताक्षर कर दिए हैं। बावजूद इसके अफगानिस्तान में शांति बहाल करना एक टेढ़ी खीर साबित हो रही है। ऐसे में जैहिर है चीन की तरफ से अमेरिका को सैनिकों की वापसी की हिदायत अमेरिकी चुनावों में ट्रंप की जीत को प्रभावित कर सकती है।

Related Articles