गलवान घाटी में झड़प के बाद चीनी कंपनी ओप्पो को झटका, स्मार्टफोन लॉन्चिंग हुई रद्द

नई दिल्ली: गलवान घाटी में झड़प के बाद सीमा बढ़ते तनाव के बीच चीन को एक झटका लगा है। चीनी मोबाइल हैंडसेट निर्माता ओप्पो ने बुधवार को देश के विभिन्न हिस्सों में चीनी उत्पादों के बहिष्कार के आह्वान के बीच देश में अपने प्रमुख 5 जी स्मार्टफोन की लॉन्चिंग को रद्द कर दिया।

 

गौरतलब है कि सीमा पर हिंसक झड़प में करीब 20 भारतीय जवान शहीद हुए हैं। इसकी वजह से देश में चीन विरोध चरम पर है। इससे चीन के प्रति आक्रोश के तहत प्रदर्शनकारियों ने और कुछ व्यापारिक संगठनों ने चीनी सामान का बहिष्कार करने की मांग की। इस टकराव का दोनों देशों के कारोबार पर असर पड़ता तय है।

 

बता दें की ओप्पो का भारत में ही फोन एसेंबली प्लांट है। कंपनी ने ऐलान किया था कि वह अपने नए Find X2 सीरीज फोन की लाइव अनवीलिंग करेगी। यह अनवीलिंग बुधवार को शाम 4 बजे थी। इस कार्यक्रम की लाइव स्ट्रीमिंग एक यूट्यूब लिंक पर होनी थी। लॉन्चिंग करने की जगह कंपनी ने प्री रिकॉर्डेड वीडियो डाल दिया जिसमें यह बताया गया है कि कोरोना वायरस से निपटने के लिए ओप्पो किस तरह से काम कर रही है।

ओप्पो की भारतीय स्मार्टफोन बाजार में करीब 10.7 फीसदी की हिस्सेदारी है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कंपनी ने इस बात का जवाब नहीं दिया है कि यह लाइव लॉन्च कार्यक्रम क्यों रद्द किया गया। कंपनी सूत्रों का कहना है कि माहौल में तनाव को देखते हुए और सोशल मीडिया पर किसी तरह की प्रतिक्रिया से बचने के लिए यह निर्णय लिया गया है।

सीमा पर जारी इस तनाव से पहले ही भारत ने चीन से आने वाले एफडीआई के लिए नियम सख्त कर दिए थे। अब चीन से आने वाले हर निवेश की बारीकी से जांच की जाएगी।

चीनी ग्राहकों को सलाह देने वाले लॉ फर्म फीनिक्स लीगल के को-फाउंडर अभिषेक सक्सेना ने ने कहा, ‘मौजूदा सरकार सख्त रवैया अपना रही है। मुझे नहीं लगता कि अब किसी चीनी निवेश प्रस्ताव को जल्दबाजी में इजाजत दी जाएगी।

Related Articles