महिषासुर की जगह दुर्गा पंडाल में चीनी राष्ट्रपति जिनपिंग का होगा संहार

9 दिनों का पवन व्रत नवरात्रि चल रहा है, नवरात्री के त्योहार में शक्ति की प्रतीक मां दुर्गा की पूजा होती है, इन त्योहारों में बुराई से अच्छाई की ओर जाने की सीख देती है।

पश्चिम बंगाल : नवरात्री के त्योहार में शक्ति की प्रतीक मां दुर्गा की पूजा होती है, इस नवरात्रि के त्योहार में बुराई से अच्छाई की ओर जाने की सीख देती है। मां दुर्गा बुराई के प्रतीक राक्षस का वध करती है। आपको बता दे कि इस बार बॉर्डर पर चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने बुराई के प्रतीक की जगह ले ली है। शी जिनपिंग की बुराई की वजह से बॉर्डर पर तनाव का माहौल बना हुआ हैं।

ये भी पढ़े : मुंबई: नागपाड़ा के एक मॉल में लगी भीषड़ आग, किसी के घायल होने की नहीं खबर

इस वजह से पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद में एक पंडाल में मां दुर्गा की प्रतिमा में राक्षस की जगह चीनी राष्ट्रपति का पुतला लगाया गया है, जिसका मां दुर्गा संहार करती दिख रही हैं। हिन्दू में धर्म में कहा जाता है कि असुर अपने ही दुनिया में गुम रहते है। चीन ठीक वैसे ही अपनी ताकत को बढ़ा चढ़ाकर बखान गाता है। जिनपिंग अब तक ड्रोन दिखा रहे थे। चीन दावा कर रहा था कि उनके सुपर डुपर ड्रोन अपने सैनिकों के लिए गर्म खाना लेकर आएंगे, लेकिन हिमालय पर गधे और खच्चर उनका सामान ढोते नजर आ रहे हैं।

 

Related Articles