चोकसी ने भारत न आने के लिए चला नया पैतरा, पत्र में लिखी किडनैपिंग की कहानी 

नई दिल्ली: भारत से भागकर एंटीगुआ में रह रहे हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी को डोमिनिका पुलिस ने कुछ दिन पहले हिरासत में लिया था. अब भारत न आने के लिए चले अपने नये पैतरे में भगोड़े हीरा व्यापारी मेहुल चोकसी ने एंटीगुआ पुलिस में किडनैपिंग की कहानी गढ़ कर शिकायत दर्ज करवाई है. मेहुल चोकसी ने कहा शिकायत में कहा कि उसके पास आये लोगों ने कहा कि वो एंटीगुआ पुलिस में हैं. जिनकी संख्या 8-10 थी उन्होंने उसे बेरहमी से मारा-पीटा. इतना कि मैं मुश्किल से होश में था. और मेरा फोन, घड़ी और वॉलेट सब छीन लिया. बाद में उन्होंने कहा कि वो मुझे लूटना नहीं चाहते हैं और मेरे पैसे वापस कर दिए.’

गर्लफ्रेंड के चक्कर में पिटा गया चोकसी

एंटीगुआ पुलिस से शिकायत में मेहुल चोकसी ने कहा कि जब मुझे पीटा जा रहा था, तो उसकी गर्लफ्रेंड बारबरा जबरिका ने बाहर से मदद के लिए पुकार कर मेरी मदद करने या किसी अन्य तरीके से सहायता करने का प्रयास भी नहीं किया. जिस तरह से बारबरा जबरिका ने खुद को वहां पेश किया, वह स्पष्ट रूप से इंगित करता है कि वह मेरे अपहरण की इस पूरी योजना का वो एक अभिन्न अंग थी. एंटीगुआन पुलिस को शिकायत में मेहुल चोकसी ने कहा कि पिछले एक साल से, मैं बारबरा जाबेरिका के साथ मैत्रीपूर्ण शर्तों पर रहा हूं. 23 मई को, उसने मुझे अपने घर पर लेने के लिए कहा. जब मैं वहां गया, तो सभी प्रवेश द्वारों से 8-10 लोग आए और मुझे बेरहमी से पीटा.

चोट के निशान वाली तस्वीरें आईं थीं सामने

बता दें इससे पहले 30 मई को डोमिनिका की जेल से मेहुल चोकसी की कुछ फोटोज सामने आई थीं, जिसमें वो अपनी चोट के निशान दिखाता नज़र आ रहा था. उसके हाथ पर चोट के निशान थे. गौरतलब है कि चोकसी पंजाब नेशनल बैंक (PNB) के साथ कथित तौर पर 13,500 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी के मामले में भारत में वांछित है.

चोकसी ने एंटीगुआ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई : गैस्टन ब्राउन

एंटीगुआ और बारबूडा के प्रधानमंत्री गैस्टन ब्राउन ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि उन्हें पता चला है कि चोकसी ने एंटीगा और बारबुडा पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है कि उनका अपहरण कर डोमिनिका ले जाया गया. ब्राउन ने कहा, उन्होंने अपने वकीलों के माध्यम से औपचारिक दावा किया कि उन्हें एंटीगा से अपहरण कर डोमिनिका ले जाया गया था. बता दें मेहुल चोकसी फिलहाल डोमिनिका में अपनी ज़मानत की कोशिशों में लगा हुआ है. आज एक बार फिर निचली अदालत में उसकी पेशी होनी है. इसके अलावा 8 जून को हाईकोर्ट में उसकी ज़मानत पर सुनवाई भी होगी. मेहुल अब भी डोमिनिका के अस्पताल में ही भर्ती है. वहीं अदालत से साफ किया है कि अस्पताल से छूटने के बाद और जमानत मिलने पर मेहुल को हर सात दिन में पेशी देनी होगी जब तक उसके मामले का ट्रायल पूरा नहीं होता.

ये भी पढ़ें : IPL के बचे मैचों की तारीखों का हुआ एलान, जानें कब होगा फाइनल

Related Articles

Back to top button