स्वच्छता सर्वे 2018: साफ-सुथरे शहरों में इंदौर ने फिर मारी बाजी, पश्चिम बंगाल सबसे गंदा

नई दिल्ली। केंद्रे सरकार ने 2018 के स्वच्छ भारत रैंकिंग के तहत देश के सबसे स्वच्छ शहर और सबसे गंदे शहर की सूची जारी कर दी है। पिछली बार की तरह इस बार भी मध्य प्रदेश का शहर इंदौर टॉप पर काबिज है। उसके बाद क्रमशः भोपाल और चंडीगढ़ का नंबर है।


चार साल पहले 2014 के स्वच्छता सर्वे में इंदौर 149वें और भोपाल 105वें स्थान पर था। फिर 2017 में सबसे स्वच्छ शहर मैसूर को इंदौर ने पांचवें स्थान पर पहुंचा कर यह ताज खुद के नाम कर लिया। इस साल यानि 2018 की टॉप टेन की सूची में सिर्फ इंदौर और भोपाल ही ऐसे शहर हैं जिन्होंने अपना स्थान बरकरार रखा है।

वही देश भर के कुल 25 सबसे गंदे शहरों की लिस्ट में 19 पश्चिम बंगाल के है। वहीँ स्वच्छ राज्यों के तहत पहला झारखण्ड, दूसरा महाराष्ट्र व तीसरे नंबर पर छत्तीसगढ़ है।

स्वच्छता सर्वे के तहत 6 स्केल पैरामीटर पर शहरों की रैंकिंग की गई। इसमें सूखे और गीले कूड़े के अलग निस्तारण की व्यवस्था, प्रोसेसिंग, डिस्पोजल, सैनिटेशन, इनोवेशन की प्रक्रिया शामिल थी।

दिल्ली ने अपना प्रदर्शन सुधार
राजधानी की साउथ दिल्ली और कैंटोनमेंट एरिया ने अपना प्रदर्शन सुधारा है। साउथ दिल्ली म्युनिसिपल कॉरपोरेशन (SDMC) अपना रैंक सुधारते हुए 202 से 32वें नंबर पर आ गई है। जबकि, नॉर्थ दिल्ली म्युनिसिपल कॉरपोरेशन (NDMC) की रैंकिंग 279 से 206 हुई है। ईस्ट दिल्ली म्युनिसिपल कॉरपोरेशन (EDMC) की रैंकिंग 341 है।

Related Articles