पिछले वर्षों में आसियान देशों के साथ बढ़ी हैं नजदीकियां: मोदी

मोदी ने कहा, “ भारत और आसियान की सामरिक भागीदारी हमारी साझा ऐतिहासिक, भौगोलिक और सांस्कृतिक धरोहर पर आधारित है.

नयी दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को 17वें भारत-आसियन शिखर सम्मेलन में आसियान में भारत के समन्वयक देश थाईलैंड की प्रशंसा करते हुये कहा है कि कोरोना वायरस जैसी चुनौती के बावजूद सभी ने अपनी जिम्मेदारियों को बखूबी निभाया है.

मोदी ने कहा, “ भारत और आसियान की सामरिक भागीदारी हमारी साझा ऐतिहासिक, भौगोलिक और सांस्कृतिक धरोहर पर आधारित है. आसियान समूह शुरू से हमारी एक्ट ईस्ट पॉलिसी का मूल केंद्र रहा है. भारत की ‘इंडो पैसिफिक महासागरीय पहल’ और आसियान के ‘इंडो पैसिफिक पर दृष्टिकोण’ के बीच कई समानताएं हैं. सभी की सुरक्षा और विकास के लिए एक सामंजस्यपूर्ण और उत्तरदायी आसियान समय की जरूरत है.

प्रधानमंत्री ने आसियान में वर्चुअल तरीके से भाग लेते हुए कहा कि भारत और आसियान के बीच आर्थिक, सामाजिक, डिजिटल, वित्तीय, समुद्री और अन्य हर प्रकार की कनेक्टिविटी को बढ़ाना हमारी प्रमुख प्राथमिकता है. पिछले कुछ सालों में हम इन सभी क्षेत्रों में करीब आते गये हैं. उन्होंने कहा, “ मुझे विश्वास है कि आज की हमारी बातचीत भले ही वर्चुअल माध्यम से हो रही हो, लेेकिन हमारे बीच की दूरी को और कम करने के लिये यह लाभदायक होगी.”

यह भी पढ़े: दादरी कस्बे के ज्वेलरी शॉप में हुआ धमाका, पूरी शॉप मलबे में तब्दील

Related Articles

Back to top button