CM कुमारस्वामी ने 40 सांसदों को तोहफे में भेजा आईफोन, 18 ने लौटाया!

0

बेंगलुरू: कर्नाटक के मुख्यमंत्री एच।डी कुमारस्वमी एक नये विवाद में फंसते नजर आ रहे हैं। दरअसल, राज्य सरकार की ओर से कावेरी नदी के जल बंटवारे और राज्य से जुड़े अन्य मुद्दों पर चर्चा के लिए प्रदेश के सभी सांसदों की नई दिल्ली में बैठक बुलाई है। लेकिन इस दौरान कुछ दस्तावेजों के साथ ही करीब 40 सांसदों के एक लाख की कीमत वाला आईफोन भी दिया गया। इस पर अब विवाद शुरू हो गया है। भाजपा ने इसे लोकतंत्र के लिए शर्मनाक बताया है।

भाजपा के एक सांसद ने महंगा फोन लौटा दिया है और कहा है कि ऐसे समय जब किसान और स्थानीय निकाय के कर्मचारी मुश्किल हालात में हैं। तब सरकार को जनता का पैसों की बर्बाद नहीं करनी चाहिए। जानकारी के मुताबिक, करीब 18 सांसदों ने यह तोहफा ठुकरा दिया।

तोहफे की जानकारी नहीं- कुमारस्वामी

वहीं इस बावत पूछे जाने पर दिल्ली आए मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने कहा कि उन्हें इस तोहफे की जानकारी नहीं है। उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि मुझे नहीं पता कि कहां से यह खबर आयी है। मेरे पास इस बारे में जानकारी नहीं है। उन्होंने कहा कि वह इस बारे में अपने कार्यालय से जानकारी लेंगे।

उपहार में आईफोन देना रिश्वत नहीं- शिवकुमार

उधर, कांग्रेस के कोटे से मंत्री डीके शिवकुमार ने दावा किया कि लोकसभा के 28 और राज्यसभा के 12 सांसदों को सरकार की ओर से आईफोन उपहार में दिए गए। यह रिश्वत नहीं है। उन्होंने कहा कि बीजेपी के कई सांसदों ने इसके लिए धन्यवाद कहा है।

बीजेपी सांसद ने फोन वापस लेने को लिखी चिट्ठी

राज्य सरकार द्वारा दिए गये मंहगे आईफोन को लौटाने और इस शर्मनाक करार देते हुए बीजेपी सांसद राजीव चन्द्रशेखर ने मुख्यमंत्री को चिट्‌ठी लिखी। चंद्रशेखर ने चिट्‌ठी में कहा कि मैं बैठक में जाऊंगा, लेकिन हैरान हूं कि इतना महंगा फोन सभी सांसदों को भेजा गया है। ये जनता के पैसे की बर्बादी है।

loading...
शेयर करें