पीएम को भला-बुरा कहने वाले केजरीवाल अब माफी मांगें

0

prakash-javdekar

नई दिल्ली। केजरीवाल सरकार के प्रधान सचिव राजेंद्र कुमार के दफ्तर पर सीबीआई के छापे के बाद दिल्ली की सियासत गर्मा गई है। केजरीवाल ने जहां सीबीआई के राजनीतिक दुरुपयोग का आरोप लगाते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कायर और मनोरोगी तक कह दिया है तो बीजेपी ने भी केजरीवाल के आरोपों पर पलटवार किया है।

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर ने कहा कि सीबीआई ने भ्रष्टाचार की शिकायत पर छापेमारी की है और केजरीवाल ऐसे भ्रष्टाचारियों को संरक्षण दे रहे हैं। प्रकाश जावडेकर ने कहा कि केजरीवाल भ्रष्टाचार का समर्थन कर रहे हैं। केजरीवाल भ्रष्टाचारियों पर कार्रवाई करने के बजाय प्रधानमंत्री पर अनर्गल आरोप लगा रहे हैं। उन्होंने कहा कि अगर भ्रष्टाचार की शिकायत पर कार्रवाई की जा रही है तो इसमें राजनीति कहां से आ गई।  प्रकाश जावेडकर के आरोपों पर आप नेता कुमार विश्वास का कहना है कि सीबीआई ने उन मुख्यमंत्रियों के दफ्तर पर छापा क्यों नहीं मारा जिनके खिलाफ भ्रष्टाचार के खुलेआम सबूत सौंपे गए हैं। उन्होंने कहा कि बीजेपी हमें भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई की सीख ना दे।

यह भी पढ़े : छापों पर प्रोपेगेंडा कर रही केजरीवाल सरकार: सीबीआई

केजरीवाल के प्रधान सचिव के दफ्तर पर छापे का मामला आज संसद में भी गूंजा। इस मसले पर विपक्षी सांसदों ने राज्यसभा में हंगामा किया और सीबीआई के दुरुपयोग का आरोप लगाया। सांसदों का आरोप था कि सीएम के दफ्तर पर छापा डालकर सरकार ने सीबीआई का दुरुपयोग किया है। इस मसले पर राज्यसभा में काफी -शराबा हुआ। विपक्षी सांसद लगातार मोदी सरकार के खिलाफ नारे लगाते रहे।

हालांकि राज्यसभा में सदन के नेता अरुण जेटली ने सरकार की तरफ से सदन में सफाई देते हुए कहा कि छापा सीएम के दफ्तर पर नहीं बल्कि प्रधान सचिव के दफ्तर पर छापा मारा गया है। उन्होंने कहा कि इस छापे का केजरीवाल से कोई लेना देना नहीं है। उन्होंने कहा कि राजेंद्र कुमार पर भ्रष्टाचार के पुराने आरोप हैं और सीबीआई ने इसी सिलसिले में छापे की कार्रवाई की गई है।

यह भी पढ़े : केजरीवाल ने कहा, शीला के बदले मुझ पर रेड

अरविंद केजरीवाल इस मुद्दे पर काफी आक्रामक रुख अख्तिायार किए हुए हैं। अरविद केजरीवाल ने ममता बनर्जी के ट्वीट को रीट्वीट करते हुए कमेंट किया है ममता दी-ये अघोषित आपातकाल है। आपको बता दें केजरीवाल के दफ्तर पर सीबीआई छापे की ममता बनर्जी ने आलोचना करते हुए ट्वीट किया था कि किसी मुख्यमंत्री के दफ्तर को सील किया जाना अभूतपूर्व है और इससे मैं अचंभित हूं।

अरविंद केजरीवाल और आम आदमी पार्टी के आरोपों के जवाब में बीजेपी के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने मोर्चा संभाला। उन्होंने केजरीवाल के दफ्तर में किसी तरह की छापेमारी से इनकार किया और कहा कि पुख्ता सबूतों के आधार पर ही सीबीआई ने राजेंद्र कुमार के खिलाफ कार्रवाई की है।

यह भी पढ़े : जानिए कौन हैं केजरीवाल के राजेंद्र कुमार और क्या हैं आरोप

रविशंकर प्रसाद ने कहा कि प्रधानमंत्री के खिलाफ की गई अमर्यादित टिप्पणी पर केजरीवाल को माफी मांगनी चाहिए। केजरीवाल का ये बयान शर्मनाक है। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार के मसले पर केजरीवाल सरकार का दोहरा चरित्र उजागर हो गया है।

उन्होंने सवाल किया कि केजरीवाल एक भ्रष्ट अफसर को क्यों बचा रहे हैं। राजेंद्र कुमार के खिलाफ आरोप बेहद गंभीर हैं। रविशंकर प्रसाद ने कहा कि किसी को अपना सचिव बनाने से पहले केजरीवाल ने होमवर्क क्यों नहीं किया।

loading...
शेयर करें