CM Shivraj ने कहा- पोषण वाटिका का नाम होगा ‘मां की बगिया’

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गुरुवार को कहा कि मनरेगा के माध्यम से हर शासकीय स्कूल में पोषण वाटिका (किचन गार्डन) बनवाए जाएंगे।

भोपाल: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) ने गुरुवार को कहा कि मनरेगा के माध्यम से हर शासकीय स्कूल में पोषण वाटिका (Nutrition garden) (किचन गार्डन) बनवाए जाएंगे। स्कूलों में जगह न होने पर गांव में अन्य स्थान पर भी पोषण वाटिका (Nutrition garden) बनाई जा सकती है। शिवराज चौहान (Shivraj Chauhan) ने कहा कि अब पोषण वाटिका का नाम ‘मां की बगिया’ होगा। स्कूल की स्वच्छता एवं मां की बगिया के विकास एवं संरक्षण में विद्यार्थियों का पूरा योगदान लिया जाए।

सीएम शिवराज (CM Shivraj) ने यहां प्रदेश में निर्मित 2500 किचन शेड और 7100 पोषण वाटिकाओं के लोकार्पण के बाद संबोधित कर रहे थे। कार्यक्रम में पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के अपर मुख्य सचिव मनोज श्रीवास्तव भी उपस्थित थे। सीएम शिवराज ने कहा कि पहले बच्चे अपने स्कूल में स्वच्छता तथा स्कूल की तरक्की में अपना पूरा योगदान देते थे। हम तो अपने स्कूल में झाड़ू लगाते थे। स्कूल की स्वच्छता आदि के काम में कोई शर्म नहीं है। विद्यार्थियों को यह काम करना चाहिए।

ये भी पढ़ें : ऋषभ पंत को अपने दस्तानों पर ज्यादा काम करने की जरूरत-रिकी पोंटिंग

उन्होंने कहा कि भोजन हितभुक अर्थात शरीर के लिए लाभदायी, मितभुक अर्थात सीमित मात्रा में तथा ऋतुभुक अर्थात मौसम के अनुरूप होगा, तभी हमारा स्वास्थ्य अच्छा रहेगा। स्कूल में पोषण वाटिका बनाने का उद्देश्य है कि बच्चों को ताजी व अच्छी सब्जियां मध्यान्ह भोजन के लिए मिल सकें। इसके साथ ही उन्होंने कहा कार्यक्रम में बालाघाट जिले के ग्राम जंगलटोला की सरपंच गुणवंता बिसेन, ग्वालियर जिले के ग्राम उटीला (मुरार) के शिक्षक पालक संघ के अध्यक्ष देवेन्द्र बघेल तथा गायत्री देवी से वर्चुअल संवाद किया। मुख्यमंत्री ने अच्छा किचन शेड निर्माण के लिए उन्हें बधाई दी।

 

Related Articles

Back to top button