सीएम योगी आदित्यनाथ ने किया गन्ना किसानों को बकाया एक लाख करोड़ रुपया का भुगतान

लखनऊ: कोरोना वायरस के संक्रमण काल में हर वर्ग की चिंता करने वाले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को गन्ना किसानों का लम्बे समय से बकाया का शुक्रवार को भुगतान किया है। अब तक प्रदेश सरकार किसानों का एक लाख करोड़ रुपया भुगतान कर चुकी है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सरकारी आवास पर गन्ना किसानों का बकाया रुपया ऑनलाइन से भुगतान किया है। किसानों की यह बकाया धनराशि उनके खाते में सीधा ट्रांसफर की गई है।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने बटन दबाकर गन्ना किसानों के खाते में पैसा भेजा एवं उसके साथ ही उत्तर प्रदेश में गन्ना भुगतान में किसी सरकार का एक लाख करोड़ से ज़्यादा के भुगतान का रिकॉर्ड बनाया। सीएम योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को प्रदेश के गन्ना किसानों को गन्ना मूल्य का बकाया ऑनलाइन भुगतान किया। इसके साथ ही अब तक प्रदेश योगी आदित्यनाथ सरकार ने लम्बे समय से बकाया गन्ना धनराशि का ऐतिहासिक रूप से एक लाख करोड़ रुपया भुगतान किया गया है।

सरकार ने तीन वर्ष में रिकॉर्ड भुगतान किया है। योगी आदित्यनाथ सरकार ने इससे पहले की सरकार के सभी रिकॉर्ड को तोड़ दिया है। पिछली सभी सरकारों के सारे रिकार्ड टूट गए है। सीएम योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में इस सरकार ने तीन वर्ष में अब तक एक लाख करोड़ से अधिक की धनराशि का किसानों को भुगतान किया है। भुगतान के मामले में पिछली सरकारों के पांच वर्ष साल का रिकार्ड टूट गया है।

इस अवसर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने डिजिटल दीपक प्रज्जवलित कर कार्यक्रम की शुरुआत की। मुजफफरनगर के किसान अरविंद मलिक ने इस अवसर पर सीएम योगी आदित्यनाथ से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से वार्ता की। उन्होंने कहा मुजफ्फरनगर में पहले अपहरण तथा क्राइम का उद्योग फलफूल रहा था, अब स्थिति बदल गई है। किसानों को उनकी मेहनत का भुगतान हो रहा है। अब किसी भी किसान का गन्ना भुगतान बकाया नहीं है।

मेरठ के किसान विनोद सैनी ने कहा कि मुख्यमंत्री जी कोरोना काल में भी आप किसानों से रूबरू हो रहे हैं। ई-पर्ची से हमको काफी सुविधा मिली। हमें अपने पेमेंट की जानकारी मिली और हम अपडेट रहे। भुगतान के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से कुशीनगर, गोरखपुर, बागपत तथा अन्य जिलों से किसानों से उनका हालचाल जाना। इस अवसर पर गन्ना मंत्री सुरेश राणा, राज्य मंत्री सुरेश पासी तथा अपर मुख्य सचिव संजय आर भूसरेड्डी भी मौजूद थे।

मंत्री सुरेश राणा ने कहा कि योगी आदित्यनाथ ने जब प्रदेश के सीएम की गद्दी संभाली तो सबसे पहले किसानों को राहत दी। कृषि ऋण माफ करने के साथ ही गन्ना किसानों का लंबित भुगतान कराने की ठान ली। अब तक सरकार तीन वर्ष के समय में गन्ना किसानों को एक लाख करोड़ से अधिक की धनराशि का भुगतान करा चुकी है। सरकार ने तीन वर्ष में ही अपने कार्यकाल से पहले के पांच वर्ष के भुगतान को निपटाने के बाद हाल के भी गन्ना मूल्य का भुगतान कराया है।

Related Articles