सीएम योगी ने की रीजनल रैपिड ट्रांजिट सिस्टम परियोजना के कार्यों की समीक्षा

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने शनिवार को अपने सरकारी आवास पर रीजनल रैपिड ट्रांजिट सिस्टम परियोजना (Regional Rapid Transit System Project) के कार्यों की प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि इण्टर ऑपरेबल कॉरिडोर और मल्टी मॉडल इण्टीग्रेशन के दृष्टिगत निर्माण कार्यों में तेजी लाई जाए। ताकि आमजन को इस सुविधा का लाभ शीघ्रता से उपलब्ध हो। आरआरटीएस रेल सेवा तेज गति, उच्च क्षमता, आरामदायक और सुरक्षित होगी। यह ट्रैफिक जाम से निजात दिलाएगी, साथ ही ऊर्जा उपभोग और प्रदूषण को कम करने में भी सहायक होगी।

इस अवसर पर अधिकारियों ने सीएम योगी (CM Yogi Adityanath) को अवगत कराया कि दिल्ली-गाजियाबाद-मेरठ कॉरिडोर का कार्य प्रगति पर है। 82.15 किमी लम्बाई की इस परियोजना की कुल लागत 30,274 करोड़ रुपये है। आरआरटीएस परियोजना के तहत मेरठ में मेट्रो सेवाओं का संचालन किया जाएगा। गाजियाबाद में मल्टीमोडल एकीकरण संबंधी कार्यों पर कार्रवाई की जा रही है। कार्यों की प्रगति के संबंध में निरन्तर समीक्षा की जा रही है।

बैठक में अपर मुख्य सचिव वित्त एस. राधा चौहान, अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री एसपी गोयल, अपर मुख्य सचिव अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास अरविन्द कुमार, अपर मुख्य सचिव सिंचाई टी वेंकटेश, प्रमुख सचिव आवास एवं शहरी नियोजन दीपक कुमार, प्रमुख सचिव परिवहन राजेश कुमार सिंह, सचिव मुख्यमंत्री आलोक कुमार समेत अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित रहें।

यह भी पढ़ें: बंगाल में भाजपा के 300 कार्यकर्ताओं पर हुआ हमला, करीब 130 लोग मारे गए

Related Articles

Back to top button