कोरोना से हो रही बेहिसाब मौत, सीएम योगी ने किया यह अपील

कोरोना संक्रमण के आंकडे कम होने का नाम नही ले रही तो वहीं ऑक्सीजन की कमी से लोग अलग परेशान है।

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ को दुसरा वुहान का नाम दिया जा रहा है। कोरोना संक्रमण के आंकडे कम होने का नाम नही ले रही तो वहीं ऑक्सीजन की कमी से लोग अलग परेशान है। इसी संकट के बीच यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने बढ़ते कोरोना संकट को देखते हुए प्रदेश की जनता से घर पर ही रहने की अपील की है। उन्होंने कहा है कि कार्यालयों-दफ्तरों में कर्मचारियों को एक ही शिफ्ट में बुलाएं और एक बार में आधे से अधिक कर्मचारियों को न बुलाया जाए।

बता दें कि यूपी में पिछले 24 घंटे के दौरान कोरोना वायरस संक्रमण के 35,614 नए मामले सामने आए हैं। इसके साथ ही यूपी में कोरोना के एक्टिव केस की संख्या 2,97,616 पर पहुंच गई है। वहीं, इस अवधि में अस्पतालों से 25,633 लोग डिस्चार्ज किए गए. प्रदेश में कोरोना महामारी की वजह से अब तक कुल 11,165 लोगों की मृत्यु हुई है. प्रदेश के ACS स्वास्थ्य विभाग अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि 24 घंटों में प्रदेश में 2,29,578 सैंपल की जांच की गई।

योगी ने लिया फैसला

कोरोना से हो रही मौतों को देखते हुए योगी ने फैसला लिया है प्रदेश में अब कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत पर अंतिम संस्कार के लिए कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा। अंतिम संस्कार की प्रक्रिया मृतक के धार्मिक मान्यताओं के अनुरूप कराई जाएगी। मुख्यमंत्री ने इसके लिए जिला प्रशासन को सभी आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित कराने और आदेश को तत्काल प्रभाव से अमल में लाने के निर्देश दिए गए हैं।

सीएम की अपील

1. जब तक आवश्यक न हो घर से न निकलें।
2. हाई रिस्क कैटेगरी से जुडे़ हुए लोग, 10 साल से कम उम्र के बच्चे, 60 साल से अधिक उम्र के बुजुर्ग, गर्भवती महिलाएं, एक से अधिक बीमारियों से ग्रस्त व्यक्ति, कमजोर इम्यूनिटी वाले लोग घर से बाहर न निकलें।
3. बगैर मास्क के घर के बाहर बिल्कुल न निकलें। अफवाहों से बचे।
4. अनावश्यक भीड़-भाड़ वाली जगह पर न जाएं। रात्रि कर्फ्यू का पालन करें।
5. व्यापारीगण मास्क एवं गलव्स का इस्तेमाल जरूर करें।
6. कार्यालयों में कर्मचारियों को शिफ्ट में बुलाएं। एक बार में आधे से अधिक कर्मचारियों को न बुलाया जाए।

7. फील्ड में तैनात अधिकारी एवं कर्मचारी मास्क एवं गलव्स जरूर पहने।
8. स्वच्छता, सेनीटाइजेशन एवं फॉगिंग नियमित रूप से कराई जाए और कंटेनमेंट जोन को सख्ती से लागू किया जाए।
9. कोरोना की लड़ाई में शामिल योद्धाओं का सहयोग एवं सम्मान करें।
10. कोरोना की लड़ाई के लिए आवश्यक जीवन रक्षक दवाओं एवं आक्सीजन इत्यादि की होल्डिंग न करें।

यह भी पढ़ें: अमेरिका से भारत आया 318, Oxygen Concentrator, इन 8 राज्यों में Corona Virus के 69.67% सक्रिय मामले

Related Articles