CM योगी का भ्रष्टाचार के खिलाफ चला हंटर, ADM-SDM सहित 5 अफसरों पर गिरी गाज

लखनऊ: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Chief Minister Yogi Adityanath) की भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की नीति जारी है। मुख्यमंत्री ने फर्रुखाबाद, उन्नाव और प्रयागराज में भ्रष्टाचार के मामले में कड़ा रुख अख्तियार करते हुए एक तत्कालीन अपर जिलाधिकारी, तत्कालीन उप जिलाधिकारी सहित 5 अधिकारियों पर कार्रवाई का हंटर चला दिया।

फर्रुखाबाद के 3 अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जद में तत्कालीन अपर जिलाधिकारी, तत्कालीन प्राचार्य डायट रजलामई और फर्रुखाबाद कोषागार के एक लेखाकार आए हैं। इनके खिलाफ विभागीय जांच के आदेश हो गए हैं। बता दें कि 2015-16 में कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालयों के शैक्षिक सत्र 2015-16 के दौरान खाद्यान्न आपूर्ति में भ्रष्टाचार हुआ था, इसकी पुष्टि जांच में हुई थी।

वहीं CM योगी आदित्यनाथ ने प्रयागराज में होमगार्ड स्वयंसेवकों की भर्ती में गंभीर अनियमितता, कदाचार, अपकृत्य के दोषी तत्कालीन उपजिलाधिकारी, प्रयागराज (संप्रति उपजिलाधिकारी, उन्नाव) की 2 वेतनवृद्धि स्थायी रूप से रोकते हुए परिनिन्दित करने के आदेश दिए हैं। आरोप है इन्होंने भर्ती प्रक्रिया में शैक्षिक प्रमाण पत्रों के मिलान करने, आरक्षण के नियमों का अनुपालन सुनिश्चित करने और अंतिम परिणाम जारी करने से पहले परिणम परीक्षण करने के दायित्व निर्वहन में अनियमितता की।

अलीगढ़ के अधिशासी अभियंता निलंबित

वहीं अलीगढ़ में CM योगी ने मनरेगा अंतर्गत निर्धारित कार्यों की प्रगति अत्यंत खराब होने तथा उच्चाधिकारियों के आदेशों, निर्देशों की अवहेलना के आरोपों में अधिशासी अभियंता, लघु सिंचाई खंड-अलीगढ़, सम्बद्ध लघु सिंचाई विभाग, मुख्यालय लखनऊ को निलंबित करने के आदेश दिए हैं। इन पर शासकीय कार्यों में रुचि न लेने का आरोप है।

यह भी पढ़ें: प्रदेश में 28,29 जनवरी को कोरोना टीकाकरण की तैयारियां समय से करें सुनिश्चित: CM Yogi

 

Related Articles

Back to top button