कोरोना के कहर पर एक्शन में CM Yogi, अफसरों को दिए सख्त निर्देश, क्या लगेगा लॉकडाउन?

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ सहित कई जिलों में रोजाना कोरोना मामलो में इजाफा हो रहा है। प्रदेश में बेकाबू हो रहे कोरोना वायरस को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) सोमवार को एक्शन में नजर आए है। सीएम योगी (CM Yogi) ने सभी जिलों के अफसरों को काफी सख्त लहजे में चेताया है कि वह गलतफहमी में न रहें, यूपी में लॉकडाउन नहीं लगेगा, हम जनता का पूरा ख्याल रखेंगे किसी को मरने नहीं देंगे। इसके आगे उन्होंने अफसरों को साफ शब्दों में कहा दिया है कि हमे बेड की शिकायत नहीं मिलनी चाहिए, हालात को देखते हुए पहले से पूरी तैयारी कर लें।

सीएम योगी का कहना है कि बिगड़ते हालातों से निपटने के लिए सभी इंतजाम करें जरूरत पड़ने पर निजी हॉस्पिटलों और मेडिकल कॉलेजों को टेकओवर किया जाए। उन्होंने कहा है सभी जिलों में टेस्टिंग, ट्रेसिंग और ट्रीटमेंट पर जोर दिया जाए। सीएम योगी ने हाल ही में एक उच्च स्तरीय बैठक में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को लेकर समीक्षा बैठक की थी।

ये भी पढ़ें : BAFTA Awards 2021: Britian तक पहुंची Rishi Kapoor और Irrfan Khan की गूंज, भावुक हुए फैन्स

CM Yogi ने कहा- नहीं होनी चाहिए लापरवाही

कोरोना संक्रमण के प्रभावी रोकथाम के लिए सीएम योगी ने रणनीति से लेकर क्रियान्वयन को तरजीह दे रहे हैं। उनका पूरा मकसद राज्य में कोरोना संक्रमण को बढ़ने से पहले ही उससे निपटने को लेकर तैयारियां करने को लेकर है। उन्होंने सभी जिलों के अफसरों से कहा है हमे इस महामारी के खिलाफ पूरी तैयारी के साथ मजबूती से लड़ना होगा, हमे इसमें लापरवाही नहीं चाहिए। पिछले वर्ष कोरोना संक्रमण को नियंत्रण करने में सफलता मिली है। उसी प्रकार से इस बार भी हम मजबूती से लड़ाई लड़ते हुए हम सफल होंगे।

ये भी पढ़ें : UP में कोरोना का घातक विस्फोट, सीएम योगी ने दिए अस्पतालों में Extra बेड उपलब्ध कराने के आदेश

निजी अस्पतालों और लैब पर सीएम नाराज

सीएम योगी ने यूपी के सभी निजी अस्पतालों और लैब में निर्धारित दरों से अधिक वसूली होने पर नाराजगी जताते हुए कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। उनका साफ कहना है कि इस महामारी में किसी की मज़बूरी का फायदा न उठाया जाए इसलिए हमे इस अवैध कारोबार को जल्द ही रोकना होगा। गलत जानकारी देने पर कठोर कार्रवाई होगी। उन्होंने पूरी लड़ाई का केंद्र बिंदु इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर को बनाने और उसकी एक-एक गतिविधि की निगरानी पर जोर दिया है। सीएम ने 108 एंबुलेंस सेवा का रेस्पांस टाइम 15 मिनट रखने का निर्देश दिया हैं। इसके लिए उन्होंने एल 2 और एल 3 के बेड्स पर्याप्त मात्रा में बढ़ाने के निर्देश दिए हैं।

Related Articles